2 paddy pots were set on fire

तहसील के आक्सापुर चिंतलधाबा मार्ग के बेरडी से सटे 3 एकड खेत के धान को आरोपियों ने आग लगा दी।

  • संदेह के आधार पर 4 आरोपी धराये
  • थानेदार, तहसीलदार की भागदौड़

गोंडपिपरी. तहसील के आक्सापुर चिंतलधाबा मार्ग के बेरडी से सटे 3 एकड खेत के धान को आरोपियों ने आग लगा दी। इससे किसान का लाखों का नुकसान हो गया है। इस मामले में पुलिस ने 4 संदेहस्पद आरोपियों को धर दबोचा है। यह घटना 18 नवंबर की रात घटी।

16 नवंबर की रात तहसील के आक्सापुर निवासी किसान ऋषी धोडरे के खेत में रखे धान को अज्ञात ने आग के हवाले कर दिया था इससे किसान का लाखों का नुकसान हुआ। इस घटना के बाद ही 18 नवंबर की रात उसी किसान के 3 एकड के धान के ढेर को आग लगा दी। घटना की सूचना मिलते ही ग्रामीणों की भीड़ उमड पडी और किसान के साथ सभी ने आरोपी को गिरफ्तार करने की मांग करने लगे इससे कुछ देर के लिए तनाव की स्थिति निर्माण हो गई। सूचना मिलते ही कोठारी के थानेदार तुषार चौहान, तहसीलदार के.डी. मेश्राम अपने दल के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने राजुरा उपविभागीय पुलिस अधिकारी को सूचना देकर तत्काल श्वान पथक और अग्नीशामक दल बुलाया। किंतु दल के पहुंचने के पूर्व ही धान जलकर राख हो गया। लगातार हो रही आगजनी की घटना से आक्सापुर के किसानों में दहशत फैली है। मामले की जांच कोठारी के थानेदार चौहान कर रहे है।

आक्सापुर बना छावनी

दो दिनों में लगातार आगजनी की घटना के बाद गांव में किसी प्रकार की अनहोनी न हो इसलिए पुलिस ने दल तैनात किया है। पुलिस गांव में भी गश्त कर रही है। इससे आक्सापुर को छावनी में तब्दील हो गया है। 

4 संदेहस्पद धराये

थानेदार चौहान ने कहा कि सूचना मिलते ही अपने दल के साथ मौके पर पहुंच गये और स्थिति को नियंत्रित किया। तुरंत 4 संदेहस्पद आरोपियों को धर दबोचा है। मामले की जांच जारी है।