अंत्योदय व प्राधान्य सूची से 23987 राशन कार्ड हुए कम

चंद्रपुर. कोरोना के दौरान गरिबों को सस्ते राशन दुकान से निशुल्क अनाज वितरित किए जाने से कईयों के अनाज की समस्या हल हुई. परंतु इस दौरान 23,987 कार्ड धारकों ने कार्ड का इस्तेमाल नही करने से उनके नाम अंत्योदय व प्राधान्य सूची से कम कर उनकी जगह गरीबों के नामो का समावेश कर अनाज का लाभ दिया जा रहा है. 

कोरोना संक्रमण के चलते देश समेत चंद्रपुर जिले में लाकडाऊन घोषित किया था. जिसका परिणाम उद्योग क्षेत्र, रोजगार पर हुआ. मजदुरों के हाथों को काम नही मिलने से कई परप्रांतीयों को जिले में मजबुर होकर रहना पडा. ऐसे में सरकार ने अंत्योदय, प्राधान्य परिवार के कार्डधारकों को सस्ते राशन दुकान से अनाज निशुल्क देने की घोषणा की थी. कई गरीब व जरूरतमंद कार्डधारकों को लाकडाऊन व अनलाक में नवम्बर तक निशुल्क अनाज वितरित किया जा रहा है. जिससे कई गरीब लोगों को निशुल्क अनाज का लाभ मिला है. 

जिले में 3,99,783 कार्ड धारकों में से 23,987 कार्डधारकों ने कार्ड का इस्तेमाल नही करने से उनके नाम सूची से कम कर उसकी जगह गरीब लोगों का समावेश किया है. जिले में 1,37,912 अंत्योदय के लाभार्थी है तो 2,62,394 प्राधिकृत परीवार लाभार्थी अर्थात प्राकुला है. इन लाभार्थीयों को राज्य सरकार के मार्गदर्शक सूचना के आधार पर अनाज व अन्य सुविधाए मुहैय्या कराई जा रही है.