राकेश बहुरिया हत्याकांड के 3 आरोपी गिरफ्तार

    बल्लारपुर. रविवार की शाम आपसी विवाद के चलते हुए राकेश बहुरिया हत्याकांड में शामिल तीन आरोपियों को स्थानीय पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया. मुख्य आरोपी सुरज राजु बहुरिया (26) और राजकुमार राजु बहुरिया (21) को दो दिनों के लिए पुलिस रिमांड में रखने के आदेश न्यायालय ने दिए है. जबकि तीसरी आरोपी हत्यारोपियों की मां रुपा उर्फ गुडिया राजु बहुरिया को न्यायालय ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

    प्राप्त जानकारी के अनुसार सगे रिश्तेदार होने के बावजूद एक दूसरे के पालतू सुअर चुराने जैसे विषय को लेकर आरोपियों तथा मृतक के बीच हमेशा अनबन होती रहती थी. रविवार संध्या लगभग 6.30 बजे राकेश बहुरिया अपनी होंडा एक्टीवा क्रं. एमच 34 बीक्यू 1785 से आरोपियों के घर के पास से गुजरते समय आरोपियों ने उस पर तलवार और बरछी से हमला कर दिया. हमला होते ही राकेश जमीन पर गिर पडा तब आरोपियों न उसके गले तथा छाती पर तलवार और बरछी से वार किया. गर्दन लगभग धड से अलग होने के कारण राकेश के घटनास्थल पर ही प्राण पखेरु उड गए. हत्याकांड के बाद एक आरोपी राजकुमार राजु बहुरिया ने पुलिस स्टेशन जाकर आत्म समर्पण कर दिया.

    घटना का पता चलते ही पुलिस ने घटनास्थल पर जाकर मुआयना किया और पंचनामा बना शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पुलिस ने घटनास्थल के पास से ही दूसरे आरोपी सुरज बहुरिया तथा उनकी मां रुपा उर्फ गुडिया राजु बहुरिया को गिरफ्त में लिया. उपविभागीय पुलिस अधिकारी राजा पवार ने घटनास्थल को भेंट देकर जांच थानेदार उमेश पाटील के मार्गदर्शन में एपीआई शैलेंद्र ठाकरे कर कर रहे है.

    आरोपी मृतक सगे रिश्तेदार

    राकेश बहुरिया हत्याकांड में आरोपी रुपा उर्फ गुडिया राजु बहुरिया मृतक राकेश की सगी बुआ है तथा दोनों मुख्य आरोपी राजकुमार और सुरज राहु बहुरिया मृतक के फुफेरे भाई है. सगी रिश्तेदारी होने के बावजूद दोनों परिवारों में पालतू सुअरों के व्यवसाय को लेकर कांट छांट चलती रहती थी. बताया जाता है कि मृतक राकेश ने लगभग 6 माह पूर्व इसी विषय को लेकर दोनों भाईयों की पिटाई की थी. जिसकी खुन्नस दोनों भाईयों ने पाल रखी थी. ज्ञात हो कि आरोपियों के पिता राजु बहुरिया की भी लगभग दो दशक पूर्व धारदार हथियार से दुर्गादेवी विसर्जन के दिन इसी इलाके में दिन दहाडे हत्या कर दी गई थी.