lockdown
File

    चंद्रपुर. डेल्टा प्लस नामक कोरोना के नए वैरिएंट के आने से राज्य के निर्देशों पर जिले में एक बार फिर लाकडाउन लगा दिया गया है. इसका क्रियान्यन सोमवार से होगा. इसमें मात्र 9 घंटे की रियायत मिलेगी. सुबह 7 बजे से 4 बजे तक ही जिले में दूकानें खुली रहेंगी, जबकि जिले के व्यापारियों को 2 घंटे की अतिरिक्त रियायत मिली है. राज्य के अन्य जिलों में केवल 7 घंटे की ही रियायत दी गई है.

    प्रशासन स्पष्ट रूप से चेतावनी दी है कि लाकडाउन का उल्लंघन किए जाने पर संबंधितों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. व्यापारी महासंघ के पदाधिकारियों ने भी अपने संगठन के सभी सदस्यों को लाकडाउन का कड़ाई से पालन करने की अपील की है.

    शाम 5 बजे से कर्फ्यू

    सोमवार से जिले में मनपा, शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में धारा 144 के अंतर्गत सुबह 5 से शाम 5 बजे तक जमावबंदी लागू रहेगी. शाम 5 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा. इस दौरान किसी को भी बाहर घूमने की सख्त मनाई रहेगी. लाकडाउन के दौरान मास्क का उपयोग, सामाजिक दूरी का पालन, आस्थापना, दूकानों के प्रवेशद्वार के पास ही ग्राहकों, प्रवेश करने वालों के लिए हाथ धोने के लिए साबून या हैन्ड सैनिटाइजर रखना आवश्यक रहेगा. जितना हो सके भीड़ लगने से बचने, प्रत्येक ग्राहकों के लिए एक-दूसरे से सामाजिक दूरी का पालन करने की दृष्टि से सामाजिक दूरी के दायरे बनाकर रखने की हिदायत दी गई है.

    जब तक बीमारी, तब तक दूकान बंद

    कोरोना नियमों का उल्लंघन किया गया, तो कोरोना महामारी की आपदा जब तक अस्तित्व में है, तब तक संबंधित दूकान, आस्थापना बंद रखी जाएगी. साथ ही उक्त आदेश का उल्लंघन करने पर संबंधित सभागृह, मंगल कार्यालय, लॉन, मालिक, प्रबंधक, होटल रेस्टारेंट एवं समकक्ष आस्थापना के प्रबंधक, मालिक, दूकानदार, व्यापारी, संस्था चालक पर पहली गलती के लिए उल्लंघन करने पर पहला दंड 5,000 रुपये, दूसरा दंड 10,000 रुपए एवं तीसरा दंड 20,000 रुपए, साथ ही कार्यक्रम के आयोजक पर भी 10,000 रुपए का दंड तत्काल वसूला जाएगा. अन्य नियमों के अनुसार भी कार्रवाई की जाएगी. बिना मास्क पाये जाने वाले व्यक्ति से 500 रुपये का दंड वसूला जाएगा. यह आदेश जिलाधिकारी अजय गुल्हाने ने जारी किए हैं.

    टीकाकरण को महत्व दें व्यापारी : खत्री

    जिला व्यापारी महासंघ के जिलाध्यक्ष सदानंद खत्री का कहना है कि कोरोना के संभावित खतरे से बचना है तो सभी व्यापारियों ने टीकाकरण को महत्व देना होगा. सभी जल्द से जल्द टीकाकरण करें एवं तब तक प्रशासन ने दिए हुए सारे निर्देशों का कड़ाई से पालन करना ही तीसरी लहर से बचने का एकमात्र उपाय है. हर किसी ने खुद इस बात को दिल पर लिया और अमल किया, तो इसके परिणाम से बचना संभव है.