arrest

शिकायतकर्ता ब्रम्हपुरी तहसील के रानबोथली का निवासी है और कृषि कार्य करता है।

  • लाईनमेन, जलापूर्ति कर्मचारी आदेशपत्र देने मांगे थे 2.20 लाख

ब्रम्हपुरी. ग्राम पंचायत के लाईनमेन, जलापूर्ति कर्मचारी नियुक्ति का आदेशपत्र देने के लिए 2.20 लाख रुपये की रिश्वत मांगने वाले रानबोथली के सरपंच मिलिंद निलकंठ खरकाटे (38)को रिश्वत प्रतिबंधक की टीम ने धर दबोचा है। उसके खिलाफ ब्रम्हपुरी पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया है।

शिकायतकर्ता ब्रम्हपुरी तहसील के रानबोथली का निवासी है और कृषि कार्य करता है। शिकायतकर्ता ने लाईनमेन, जलापूर्ति पद के लिए रानबोथली ग्राम पंचायत में आवेदन किया था। 24 अगस्त को उक्त पद के लिए गट ग्राम पंचायत रानबोथली के ग्रापं सभा में प्रस्ताव पारित कर शिकायतकर्ता को लाईनमेन, जलापूर्ति कर्मचारी पद पर नियुक्ति की गई। किंतु रानबोथली के सरपंच मिलिंद खरकाटे ने शिकायतकर्ता को लाईनमेन, जलापूर्ति कर्मचारी पद नियुक्ति का आदेशपत्र देने के लिए 2.20 लाख रुपये के रिश्वत की मांग की।

शिकायतकर्ता की रिश्वत देने की इच्छा न होने से रिश्वत प्रतिबंधक विभाग चंद्रपुर से शिकायत कर दी। पुलिस निरीक्षक निलेश सुरडकर ने शिकायतकर्ता के शिकायत की अत्यंत गोपनीय ढंग से जांच कर कार्रवाई की योजना बनायी। जांच के दौरान पाया कि 31 अगस्त को सरपंच मिलिंद खरकाटे ने शिकायतकर्ता से 2.20 लाख रुपये रिश्वत की मांग कर स्वीकारने की इच्छा प्रकट की थी। इस आधार पर ब्रम्हपुरी पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की है।

यह कार्रवाई पुलिस अधीक्षक रश्मी नांदेडकर, अपर पुलिस अधीक्षक राजेश दुद्दलवार, पुलिस उपअधीक्षक अविनाश भामरे के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक निलेश सुरडकर, संताश येलपुलवार, रविकुमार ढंगले, नरेशकुमार नन्नावरे, संदेश वाघमारे, राहुल ठाकरे आदि ने की है।