And a young man jumped into the Wardha River

उल्लेखनीय है पिछले दो महीनों के दौरान लगातार आत्महत्याओं की घटनाएं घटित हो रही है।

  • एक सप्ताह पहले वेकोलि के अधिकारी ने की थी आत्महत्या

माजरी. वणी तहसील के उकनी निवासी युवक ने भी वरोरा-वणी हाइवे के पाटाला में स्थित वर्धा नदी के पुल से छलांग लगा दी है समाचार लिखे जाने तक उसका पता नहीं चल सका है।नदी से कूदने वाले युवक का नाम ईश्वर शिवशंकर शुक्ला (24) है। उल्लेखनीय है पिछले दो महीनों के दौरान लगातार आत्महत्याओं की घटनाएं घटित हो रही है।

पुलिस की जानकारी के अनुसार युवक ने अपनी बाइक नदी के पुल पर खड़ी की और गुरुवार की रात 9 बजे के दौरान नदी में छलांग लगा दी। एक सप्ताह पूर्व घुग्घुस निवासी के वेकोलि अधिकारी अमित पोले  (30) ने भी इसी तरह वर्धा नदी के पुल पर से छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली थी। इसी तरह कोना बस्ती ग्राम  निवासी दो चचेरी बहनों ने भी रेलवे के पुल पर से नदी में छलांग लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया था। अगले दिन कावड़ी गांव के पास उनमें से ज्योति श्रीकृष्ण परचाके (20) जिंदा मिली। हालांकि उसकी बहन आंचल शंकर परचाके (19) की मौत हो गई।

युवक ईश्वर शुक्ला का अबतक पता नहीं चला है और दूसरी ओर वर्धा नदी में पानी लबालब भरा हुआ है जिससे पुलिस प्रशासन को उसकी खोजबीन में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ईश्वर, पंजाब ट्रान्सपोर्ट कंपनी में टायर हेल्पर के तौर पर कार्यरत था। अनुमान लगाया जा रहा हैं कि, कोरोना के संक्रमण के दौरान लोग परेशानियों में घिरने की वजह से आत्महत्या जैसा कदम उठा रहे है।