आष्टा और जुगनाला ग्रा.पं. को केन्द्र सरकार का पुरस्कार

  • राज्य की 14 ग्रा.पं. में से चंद्रपुर की दो का समावेश

चंद्रपुर. केन्द्र सरकार की ओर से ग्रामविकास के लिए प्रोत्साहन देने के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार योजना चलायी जा रही है. केन्द्र सरकार के इस पुरस्कार के लिए राज्य की 14  ग्रामपंचायतों का चयन हुआ है. इसमें चंद्रपुर जिले की  पोंभूर्णा तहसील की आष्टा एवं ब्रम्हपुरी तहसील की जुगनाला ग्रामपंचायत का समावेश है ऐसी जानकारी जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल कर्डिले ने दी.

जिले में इन ग्रामपंचायतों को दल्लिी में आयोजित विशेष समारोह में 10 लाख रूपयों का पुरस्कार दिया जाएगा. पंचायत राज मंत्रालय भारत सरकार के माध्यम से देश भर के विभन्नि राज्यों से इस पुरस्कार के लिए ग्रामपंचायतों का चयन किया जाता है.

महाराष्ट्र की 2 हजार 700 ग्रामपंचायतों ने इस अभियान में सहभाग दर्शाया है इसमें से राज्य की 14ग्रामपंचायत पुरस्कार के लिए चुनी गई. इसमें चंद्रपुर जिले के पोंभूर्णा तहसील के आष्टा एवं ब्रम्हपुरी तहसील के जुगनाला ग्रामपंचायत का चयन हुआ है. यह बात जिले के लिए अभिमान और गर्व का विषय है. इस ग्रामपंचायत ने केन्द्र सरकार के शर्तों एवं नियमों के तहत किए गए नियोजन, चलायी गई विभन्नि योजना एवं विशष्टिपूर्ण काम पुरस्कार के लिए महत्वपूर्ण साबित हुआ है.

आष्टा 1 हजार 200 आबादी वाली ग्रामपंचायत है. ग्रामपंचायत में हमेशा नवीन्यपूर्ण उपक्रम चलाये जा रहे है. सशक्तिकरण एवं विकास के लिए प्रयासरत है. इसका परिणाम गांव, तहसील स्मार्ट पुरस्कार, संत गाडगेबाबा ग्राम स्वच्छता अभियान एवं विभन्नि पुरस्कारों से गौरवान्वित किया गया है. महाराष्ट्र ग्राम सामाजिक अभियान अंतर्गत पिछले तीन वर्षों से ग्रामपंचायत में विभन्नि विषयों पर काम किया जा रहा है.

गांव में नियमित ग्रामसभा, ग्रामपंचायत सदस्यों का सक्रिय सहभाग शतप्रतिशत कर वसूली, पेयजल की आरो मशीन, प्रत्येक परिवार के लिए गरम पानी की व्यवस्था, जनसहयोग से ग्राम स्वच्छता, डिजिटल स्कूल, आंगनवाडी, आयएसओ ग्रामपंचायत, पेपरलेस ग्रामपंचायत, अपारंपारिक उर्जा स्त्रोत, गांव में सीसीटीवी सुविधा नर्मिाण हुई है.

जुगनाला यह जिले की जिला स्मार्ट ग्रामपंचायत है, इसके साथ साथ मेरा गांव मेरा तीर्थ अभियान, अध्यक्ष आदर्श ग्राम, संत गाडगेबाबा ग्राम स्वच्छता अभियान, स्वच्छताग्रह को राष्ट्रपति के हाथों पुरस्कार आदि विभन्नि पुरस्कार प्राप्त है. गांव की ग्रामपंचायत, स्कूल, आंगनवाडी आयएसओ मानांकित है, ग्राम सभा, मासिक सभा, चौपाल सभा में ग्रामीण नियमित रूप से भाग लेते है, शत प्रतिशत कर वसूली, सभी पेयजल के स्त्रोतों को हरा कार्ड, सोलर आधारित नलजलापूर्ति योजना, रास्ते, रास्ते के दोनों छोर पर संदेश आदि उपक्रम लिये जा रहे है.