18,000 children infected in Nashik, first infected on 28 March 2020
प्रतीकात्मक तस्वीर

    • मनपा स्वास्थ्य कर्मियों के लिए बच्चों में कोविड संक्रमण पर प्रशिक्षण 

    चंद्रपुर. कोरोना की तिसरी लहर बालकों के लिए अधिक धोकादायक होने की संभावना है. ऐसे स्थिति में अभी से सतर्क रहने की आवश्यकता है. आनेवाले दिनों में बालकों के मानसिक स्वास्थ की ओर विशेष ध्यान देना जरूरी है. पालकों ने बालकों के स्वास्थ पर विशेष ध्यान दे, डाक्टरों की सलाह लेने का आह्वान आयएपी के सचिव डा. अभिलाषा गावतुरे ने किया.  

    चंद्रपुर शहर महानगरपालिका की ओर से राणी हिराई सभागार में गुरुवार को स्वास्थ कर्मीयों के बच्चों के लिए कोविड संक्रमण, देखभाल व उपाययोजना संदर्भ में प्रशिक्षण लिया गया. इस समय डॉ. अभिलाषा गावतुरे ने स्वास्थ कर्मीयों को मार्गदर्शन किया. मंच पर मनपा के वैद्यकीय स्वास्थ अधिकारी डा. अविष्कार खंडारे आदि उपस्थित थे.

    प्रशिक्षण में डा. नरेंद्र जनबंधु, नागरी स्वास्थ केंद्र 2 रामनगर के स्वास्थ अधिकारी डा. अश्विनी भारत, नागरी स्वास्थ केंद्र 1 इंदिरा नगर के स्वास्थ अधिकारी जयश्री वाडे, स्वास्थ अधिकारी अश्विनी येडे, डा. सोहा अली, डा. अतुल चटके आदी समेत मनपा के सर्वेक्षण परिचारिका, अधिपरिचारिका, पब्लिक हेल्थ नर्स, बहुद्देशीय स्वास्थ कर्मचारी आदि उपस्थित होते.

    कोविड 19 के दूसरे लहर में बच्चों में संक्रमण का प्रमाण दिखाई दिया. तिसरे लहर में बच्चों में अधिक धोका होने की संभावना है. इसके पहले ही स्वास्थ विभाग को सतर्क रहना होगा. कोरेाना से बच्चों का बचाव करते समय वैद्यकीय टिम ने आवश्यक सावधानी बरतनी चाहिए. स्तनदा माताओं ने किस तरह से सावधानी बरते, लक्षण कैसे पहचाने आदि पर मार्गदर्शन किया.  

    बच्चों में बुखार, गले में खिचखिच, पेट की बिमारी, उलटी आदि लक्षण मुख्य रूप से पाए जाते है यह लक्षण मां जल्दी पहचान जाती है. इसलिए बच्चों की माताओं से अधिक संपर्क में रहे ऐसी सलाह डा. गावतुरे ने दी. चंद्रपुर शहर महानगर पालिका के स्वास्थ विभाग की ओर से सभी स्वास्थ कर्मचारीयों को प्रशिक्षण दिया जायेगा. प्रभावि क्षेत्र में जनजागरण किया जायेगा ऐसी जानकारी मनपा के वैद्यकीय अधिकारी डा. अविष्कार खंडारे ने दी है.