प्रभारियों के भरोसे ब्रम्हपुरी पशुधन वैद्यकीय अस्पताल

  • पशुपालकों को होती है भारी परेशानी
  • तहसील पशुधन वैद्यकीय अस्पताल पर 18 गांव की जिम्मेदारी

ब्रम्हपुरी. यहां 1.24 करोड़ की लागत से साकार हुआ सर्वसुविधायुक्त सुसज्ज लघु पशु वैद्यकीय चिकित्सालय है। किंतु यहां अधिकारियों का अभाव होने से पशुपालकों को भारी परेशानी का सामना करना पडता है। यहां के पशुधन विभाग में 5 अधिकारी के पद है किंतु सभी 5 अधिकारी पद रिक्त पडे है।

दो वर्ष पूर्व गट (अ) सहाय आयुक्त पशुसंवर्धन 1 सेवानिवृत्त हो गये है उनका प्रभार सहायक पशुधन विकास अधिकारी डा. मनिष लाडे को सौंपा गया है। पशुधन पर्यवेक्षक पद एक वर्ष से रिक्त पडा है। वरिष्ठ लिपिक और परिचर पद तीन वर्षो से रिक्त है। इसलिए काफी समय से सभी काम का प्रभार सहायक पशुधन विकास अधिकारी डा. मनिष लाडे को सौंपा है। इसलिए ब्रम्हपुरी पशु वैद्यकीय हास्पिटल रामभरोसे है। एक अप्रैल 2020 को सहायक पशुधन विकास अधिकारी डा. मनिष लाडे का तबादला अरहेर नवरगांव हो गया।

उन्होंने अरहेर नवरगांव का पदभार भी संभाल लिया किंतु तहसील पशु वैद्यकीय हास्पिटल के सभी पद रिक्त होने से प्रभार किसी को सौंपा नहीं गया। अतिरिक्त प्रभार डा. मनिष लाडे को सौंपा है। वर्तमान में पशुधन विकास अधिकारी सभी पदों का प्रभार संभाल रहे है।

वर्तमान समय पर पशुओं को लम्पी रोग फैला है अनेक गांव में शिविर आयोजित किये जा रहे है। किंतु इस प्रकार का प्रभार होने से कौन पशुधन वैद्यकीय अस्पताल कितना समय देकर पशुपालकों को न्याय देगा।

1.24 करोड़ की लागत से तैयार इमारत में एक भी नियमित अधिकारी नही  है और कर्मचारियों के पद रिक्त होने से अस्पताल सूना पडा है। तहसील पशुवैद्यकीय अस्पताल अंतर्गत बोंडेगांव, माहेर, कुर्झा, झिलबोडी, पारडगांव, किन्ही, खेड, मरारमेंढा, खरबी, तुमडीमेंढा, बेलदाटी, दुधवाही, कहाली, परसोडी, उदापुर, बोरगांव, नवेगांव, कोथुलना, बोढेगांव का समावेश है। इन सभी गांव के लिए प्रभारी पशुधन विकास अधिकारी कितना समय देकर न्याय कर सकेंगे?

ब्रम्हपुरी  प्रभारी सहायक पशुधन विकास अधिकारी डा. मनिष लाडे ने कहा कि मेरा तबादाला अरहेर नवरगांव किया गया है। यहां के सभी काम संभालते हुए ब्रम्हपुरी पशु वैद्यकीय अस्पताल का अतिरिक्त प्रभार संभालने में परेशानी हो रही है।