Minor girl sexually abused in Delhi, accused arrested

  • माजरी में प्रकाश में आई रिश्ते को कलंकित करने वाली घटना
  • किशोरी के गर्भवती होने से घटना उजागर

माजरी. विकलांग भाई ने अपनी सगी 16 वर्षीय बहन के साथ दुराचार किया। रिश्ते को कलंकित करने वाली यह घटना माजरी में प्रकाश में आई है। इससे गर्भवती किशोरी ने भाई का पाप छुपाने का प्रयास किया किंतु उसके गर्भवती होने से मामला उजागर हो गया। माजरी पुलिस ने जिला बाल संरक्षण की रिपोर्ट के आधार पर भाई के खिलाफ 5 सितंबर को बलात्कार और पोस्को के तहत मामला दर्ज किया हे।

घटना का आरोपी और उसकी बहन माजरी में रहती है। किशोरी माजरी के विद्यालय में  कक्षा 9 वीं  शिक्षारत है। पीडित के माता पिता की वरोरा तहसील के रामपुर में कृषि होने से दोनों रामपुर में रहते है। लाकडाउन के काल में शाला बंद होने से पीडित अपने माता पिता के पास रामपुर में रहने आई वहां पीडित ने अपने साथ हुये कृत्य की जानकारी मां को दी। यह कृत्य करने वाला अपना ही पुत्र होने से पीडित की मां ने उसे छुपाने का प्रयास किया। आरोपी विकलांग होने से उसे साफ साफ दिखाई नहीं देता था।

सूत्रों के अनुसार आरोपी और पीडित साथ सोते थे एक रात भाई ने अपनी बहन के साथ जबरदस्ती दुराचार किया। दुराचार करने वाला आरोपी सगा भाई होने से पीडित ने बदनामी के डर से मामले की जानकारी किसी को नहीं दी। किंतु पीडित के गर्भवती होने से उसके माता पिता ने उससे पूछताछ की। पीडित ने यह कृत्य भाई ने किया यह जानकारी दी तो सभी को धक्का लगा।

पीडित किशोरी के माता पिता अपनी गर्भवती किशोरी को एक निजी अस्पताल में उपचार के लिए ले गये। इस बीच नाबालिग किशोरी गर्भवती होने की बात ध्यान में आते ही डाक्टर ने  उसे जिला सरकारी अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल करने की सलाह दी। निजी डाक्टर की सलाह पर पीडित को जिला सरकारी अस्पताल में दाखिल किया। वहां के चिकित्सक ने थाने में रिपोर्ट करने की सलाह दी। किंतु यह सुनकर उसके माता पिता और रिश्तेदार अस्पताल से भाग निकले। जिला बाल संरक्षण चंद्रपुर को जानकारी मिली। इस आधार पर जिला बाल संरक्षण चंद्रपुर की फरियादी हर्षा वरहाटे ने मामले की जांच के आधार पर रिपोर्ट दी।

रिपोर्ट के आधार पर माजरी पुलिस ने आरोपी के खिलाफ विविध धारा के तहत मामला दर्ज किया। जांच अधिकारी के अनुसार पीडित की दो दिनों में डिलीवरी होने वाली है। उसके बाद शिशु और आरोपी के डीएनए की जांच की जाएगी। डीएनए जांच के पश्चात आगे की कार्रवाई की जाएगी। मामले की जांच एसडीपीओ निलेश पांडे के मार्गदर्शन में सहायक पुलिस निरीक्षक विद्या जाधव कर रही है।