Video made to drink alcohol in a moving bus, endangered people

चंद्रपुर. लॉकडाउन जारी होने के बाद दो माह से धूल खाती हुई पड़ी कुछ बसें शुक्रवार को सड़कों पर तो नजर आयी लेकिन बसों में यात्रा करनेवाले यात्री ही नदारद पाए गए.

राज्य के परिवहन मंत्री के आदेश की पृष्ठभूमि पर जिलाधिकारी डॉ. कुणाल खेमनार ने भी गुरुवार देर शाम एक आदेश जारी कर जिले में अंतर्गत बस सेवा शुरू करने को अनुमति दी थी.

यात्री क्षमता के 50 प्रतिशत यात्री परिवहन, सोशल डस्टिनसिंग, स्वास्थ्य चिकत्सिा प्रमाणपत्र आदि शर्तों के आधार पर दी गयी इस अनुमति के बाद जिले के विभन्नि डिपो में 2 माह से धूल खाती पड़ी बसों ने सड़कों पर दौड़ना शुरू किया लेकिन बसों में या बस स्थानकों पर यात्रियों की संख्या बेहद ही नगण्य थी. कुछ बसों में तो चालक और परिचालक के अलावा महज एक यात्री सफर कर रहा था.

परिवहन विभाग के अनुसार अनुमति मिलने के पहले दिन चंद्रपुर, राजुरा, चिमुर और वरोरा डिपो से बसें छोड़ी गई किंतु सभीं डिपो से निकली बसों की हालत एक समान ही थी. सभीं स्थानों पर पहले दिन यात्रियों का अभाव नजर आया.