शिकारी कुत्ते की सहायता से चीतल का शिकार

  • 2 छुरे के साथ 4 आरोपी गिरफ्तार

गोंडपिपरी. शिकारी कुत्ते की सहायता से चीतल का शिकार करने की घटना उजागर होने से वनविभाग में खलबली मच गई. गुप्त सूचना के आधार पर वनविभाग की टीम ने छापा मार कार्रवाई कर चार आरोपियों को धर दबोचा है. यह घटना मध्य चांदा वनविभाग वनपरक्षिेत्र के सुकवासी बीट में घटी. कुछ महीने पूर्व ही इस वनक्षेत्र में शिकार की घटना उजागर हुई थी.

मध्य चांदा वनपरक्षिेत्र धाबा अंतर्गत आने वाले सुकवासी बीट के कक्ष क्रं. 156 में शिकारी कुत्ते की सहायता से चीतल के शिकार की जानकारी वनविभाग को मिली. सूचना के आधार पर वनविभाग ने वटराणा निवासी नितेश जीवनदास मेश्राम, गणेशपिपरी निवासी नारायण येंकटी पंदीलवार, वटराणा निवासी सिताराम बंडू कातलाम और शंकर शामराव कोडापे को धर दबोचा. आरोपियों से पूछताछ के पश्चात वनविभाग की टीम ने शिकार के घटनास्थल पर पहुंचे. वहां चीतल का सिर, पैर बरामद हुए. शिकार मामले में आरोपियों की संख्या बढने की संभावना है. कुछ महीने पूर्व ही सुकवासी बीट से सटे वटराणा वनक्षेत्र में सांबर का शिकार हुआ था. वेडगांव में शिकार की घटना उजागर हुई थी. धाबा वनक्षेत्र अंतर्गत शिकार की घटना बढने से वनविभाग में चिंता फैल गई है.