कोरोना टीके को लेकर कलेक्टर हुए अलर्ट

  • अधिकारियों को दिए सूक्ष्म नियोजन के निर्देश
  • सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को, कोरोना वीरों और वृध्दों को लगेंगे टीके

चंद्रपुर. कोविड 19  पर काबू पाने के लिए सरकार ने शीघ्र ही टीका उपलब्ध कराये जाने की घोषणा की है. जिले में टीकाकरण मुहिम किस तरह से ली जाएगी इसकी पूर्व तैयारी के लिए जिलाधिकारी अजय गुल्हाने ने समीक्षा की.

जिलाधिकारी कार्यालय के बीसकलमी सभागार में जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक ली गई. सभा में जिला परिषद के सीईओ राहुल कर्डिले, महानगर पालिका आयुक्त राजेश मोहिते, अप्पर जिलाधिकारी विद्युत वरखेडकर, चंद्रपुर एकात्मिक आदिवासी विकास प्रकल्प के  प्रकल्प अधिकारी एवं उपविभागीय अधिकारी रोहन घुगे, शासकीय वैद्यकीय अस्पताल एवं महाविद्यालय के अधिष्ठाता डा. अरूण हुमने, जिला शल्य चिकित्सक डा. निवृत्ति राठोड, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. राजकुमार गहलोत, आयएमए के डा. मंगेश गुलवाडे आदि उपस्थित थे.

जिलाधिकारी ने कोरोना टीका को ग्रामीण स्तर पहुंचाने, उसका संरक्षण करने के संदर्भ में उपलब्ध वर्तमान सुविधा की जानकारी ली. जिले में वर्तमान में एक ही समय में अन्य टीकों के अलावा कोविड के दो लाख टीकों का भंडारण करने की क्षमता पर उन्होने समाधान जताया. मात्र ग्रामीण क्षेत्र तक विहित तापमान सीमित टीका पहुंचाने के लिए  परिवहन सेवा को अपडेट रखने को कहा. टीकाकरण मुहिम जिले में प्रभावी रूप से क्रियान्वित करने के लिए सूक्ष्म नियोजन करने एवं आवश्यक प्रशिक्षण देने के निर्देश जिलाधिकारी गुलहाने ने दिए. 

यह टीका सबसे पहले स्वाथ्स्य सेवकों, कोरोना योध्दा, 50 साल से अधिक आयु के लोगों को लगाया जाए ऐसा सरकार का आदेश होने की जानकारी जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. गहलोत ने दी.

स्वासथ्य विभाग के डा. संदीप गेडाम ने टीका स्टोरेज उपलब्धता के बारे में पीपीटी प्रस्तुतिकरण कर जानकारी दी.

बैठक में स्वास्थ्य विभाग के डा. सुधीर मेश्राम, डा. प्रतीक बोरकर, डा. प्रीति राजगोपाल, डा. प्रकाश साठे, डा. अविष्कार खंडारे, माध्यमिक शिक्षणाधिकारी उल्हास नरड, प्राथमिक शिक्षणाधिकारी दीपेंद्र लोखंडे, संग्राम शिंदे, गणेश धोटे, विभिन्न विभाग के अधिकारी एंव प्रतिनिधि उपस्थित थे.