File Photo
File Photo

    • आज दिन भर चलती रही लॉकडाऊन की चर्चा
    • लॉकडाऊन के डर से बाजारों में दिखी हलचल

    चंद्रपुर: जिले में कोरोना की दूसरी लहर का असर जिस तेजी से बढ रहा है उससे यही आशंका जतायी जारही है कि होली के बाद यहां जिले में कोरोना विस्फोट हो सकता है. इसके बावजूद लोग कोरोना को लेकर बेपरवाह है और प्रशासन भी इस मामले में खामोशी अपनाये हुए है. आज तो दिन भर लॉकडाऊन को लेकर चर्चा होती रही.

    लोग एक दूसरे को फोन पर लॉकडाऊन कब से लग रहा है इसकी जानकारी लेते दिखे. वहीं शुक्रवार को भारत बंद और कोरोना के कारण लॉकडाऊन की स्थिति निर्माण हो सकती है इस डर से आज शहर में लोगों को बड़े पैमाने पर होली की खरीदी करते हुए देखा गया.

    बीड, नांदेड़, पुणे, वर्धा जैसे शहरों में लॉकडाऊन तथा संचारबंदी जैसे एहतियाती कदम उठाये गए है परंतु जिले में अभी तक प्रशासन की तरफ से कोई प्रतिबंधात्मक कार्रवाई नहीं की गई है. टी.वी चैनलों पर विदर्भ के अन्य शहरेां में लॉकडाऊन और संचारबंदी की खबरों को देखते हुए लोगों में हलचल थी.

    बुधवार को चंद्रपुर शहर में 120 कोरोना मरीज एक ही दिन में पाये जाने की खबरों ने भी लोगों को सतर्क कर दिया और आज किसी भी वक्त लॉकडाऊन लगने की आशंका से लोगों ने एहतियाती कदम उठाने शुरू कर दिए. बाजार में भी खरीददारी के लिए भीड़ नजर आयी.आज लोगों में जरूरी सामान खरीदने की होड़ मची हुई थी.

    इस दौरान कई जगहों पर लोग बिना मास्क लगाये नजर आ रहे थे वहीं सोशल डिस्टसिंग का कोई ध्यान नहीं रखा जारहा था. व्यापारियों में भी संभावित लॉकडाऊन को लेकर आशंका और हड़बड़ाहट दिखाई दी. शुक्रवार को किसानों के समर्थन में कांग्रेस समेत विभिन्न संगठनों ने बंद का ऐलान किया है साथ ही ऐसे में खरीददारी के लिए केवल शनिवार का दिन ही बचा होने से लोगों ने कही लॉकडाऊन लग गया तो होली का पर्व फीका ना बीते और होली का मचा किरकिरा ना हो जाए इस दृष्टि से आज ही बाजार में भीड़ जमाकर होली और रंगपंचमी की खरीदी की. इसके चलते गोलबाजार, गंजवार्ड, बंगाली कैम्प मार्केट, रामनगर,तुकूम आदि क्षेत्रों में लोगों की तादाद अन्य दिनों के तुलना में आज अधिक थी.

    24 घंटे में कोरोना से दो की मौत

    जिले में पिछले 24 घंटे में कोरोना से दो लोगों ने दम तोड़ दिया. वहीं 245 नये मरीज पाये गए और 66 ने कोरोना से मुक्ति पाकर अस्पताल से छुट्टी ली. जिले में कोरोना मरीजों की संख्या 26,489 पहुंची है जिनमें से 24,417 से कोरोना से मुक्ति पायी है. 1657 का उपचार शुरू है. 2, 63, 094 नमूनों की जांच की गई जिसमें से 2,30,412 लोगों के नमूने निगेटीव आये.

    आज मृत पाये गए लोगों में चंद्रपुर शहर के जयराज नगर का 83 वर्षीय पुरूष और वाल्मिक नगर की 45 वर्षीय महिला का समावेश है. जिले में अब तक 415 लोगों की मौत हुई है. जिनमें 376चंद्रपुर जिले के है. तेलंगाना, बुलढाणा, भंडारा, वर्धा का एक एक, गडचिरोली के 19, यवतमाल के 16 मरीजों का समावेश है.

    आज पाये गए 245 मरीजों में महानगर पालिका क्षेत्र के 74, चंद्रपुर तहसील से 23 , बल्लारपुर से 12 , भद्रावती से 18 , ब्रम्हपुरी से दो, नागभीड़ से 5 , सिंदेवाही से पांच, मूल से छह, सावली से छह, पोंभूर्णा से एक, गोंडपिपरी से तीन, राजुरा से सात, चिमूर से 13, वरोरा से 46, कोरपना से 19 मरीजों का समावेश है.

    कोविड केअर सेंटर की संख्या बढ़ाये- जिलाधिकारी ने दिए निर्देश

    चंद्रपुर. जिलाधिकारी अजय गुल्हाने ने यहां निर्देश देते हुए कहा कि, जिले में कोरोना मरीजों की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए आने वाली किसी भी परिस्थितियों का मुकाबला करने के लिए बड़े पैमाने पर कोविड केअर सेंटर्स तैयार करें

    कोरोना टास्क समिति की हुई बैठक में यह निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि, कोविड केअर सेंटर्स के लिए छात्रावास, स्कूल तथा अन्य स्थानों को अभी से अपने अधिग्रहण में लेने की प्रक्रिया शुरू करें. 

    जिले में प्रतिदिन कोरोना की बढ़ती संख्या पर चिंता जताते हुए उन्होंने कहा कि, जिले में अधिकाधिक लोगों को कोरोना का टीका लगाने की दृष्टि से भी पर्याप्त नियोजन करें. उसके लिए नए नए वैक्सीनेशन केंद्र तैयार करें. कोरोना की जांच हेतु अतिरिक्त लेबोरेटरी बनाये, ऑक्सीजन का पर्याप्त संग्रह तैयार रखे, जहां कोरोना के ज्यादा मरीज दिखाई दे उसे तुरंत हॉटस्पॉट घोषित करें, महिला अस्पताल के सभी 350 बिस्तर कोरोना मरीजों के लिए तैयार रखे.

    बैठक में जिला परिषद के सीईओ राहुल कर्डिले, अपर जिल्हाधिकारी विद्युत वरखेड़कर, सहायक जिलाधिकारी रोहन घुगे, मनपा आयुक्त राजेश मोहिते, सिविल सर्जन निवृत्ति राठौड़, मेडिकल कॉलेज के डीन राजेन्द्र सुरपाम, पोलिस उपाधीक्षक शेखर देशमुख, समाज कल्याण विभाग के अमोल यावलीकर, जिला टीकाकरण अधिकारी संदीप गेडाम आदि उपस्थित थे.