80 लाख रूपये लागत के सुरक्षा दिवार साहित्य में भ्रष्टाचार

  • उच्च दर्जे के साहित्य से करे दिवार का निर्माण - जिप सदस्य आसुटकर

दुर्गापुर.  उर्जानगर ग्रापं वार्ड क्रमांक 6 में नेरी नाले पर 80 लाख रूपये खर्च कर सुरक्षा दिवार का कार्य किया जा रहा है. परंतु दिवार निर्माण में घटिया दर्जे के साहित्यों का इस्तेमाल करने से दिवार की सुरक्षितता प्रश्नचिन्ह निर्माण किए जा रहे है. इस संदर्भ में जिप सदस्या वनिता आसुटकर ने लोकनिर्माण विभाग से उच्च दर्जे के साहित्यों का उपयोग कर सुरक्षित दिवार बनाने की मांग की है.   

नेरी नाले पर सुरक्षा दिवार के निर्माण कि मांग 15 वर्ष पुरानी है. परंतु निधि के अभाव से यह कार्य प्रलम्बित था. जिप सदस्या वनिता आसुटकर के निर्वाचित होते ही नेरी नाले पर सुरक्षा दिवार निर्माण के लिए काफी प्रयास किए गए. तत्कालिन पालकमंत्री मुनगंटीवार ने दिवार निर्माण के लिए 80 लाख रूपये मंजुर कर दिवार निर्माण की अनुमती दी. तत्पश्चात पिछले वर्ष अगस्त 2019 में संरक्षण दिवार का भुमीपूजन किया गया. सत्तापरिवर्तन के चलते नर्मिाण कार्य में ढिलाई बरती जा रही थी. अभी पुनर्‍ संरक्षण दिवार का निर्माण कार्य शुरू किया गया. परंतु दिवार निर्माण में उपयोग में लाए जानेवाला भरण व नाले की मिटटी मिश्त्रित रेत का इस्तेमाल किए जाने से दिवार की मजबुती पर कई सवाल उठ रहे है. 

इस संदर्भ में जिप सदस्य वनिता आसुटकर ने बताया वर्षो से नेरी नाले पर सुरक्षा दिवार निर्माण की मांग की जा रही है. अभी जब दिवार का निर्माण किया जा रहा है तो उसमें घटिया दर्जे का साहित्यों का इस्तेमाल किया जा रहा है. आसुटकर ने बीएन्डसी विभाग के कनिष्ठ  अभीयंता अंबुले से सही मात्रा में सही मटेरियल का इस्तेमाल कर संरक्षण दिवार बनायी जाए अन्यथा शासन प्रशासन से लिखित शिकायत करने की बात कही है.