Changed throughout the day, people playing sunny house decoration

    चंद्रपुर. आज से इस वर्ष के नौतपा की शुरूआत हुई. परंतु पहले ही दिन मृगछाया पडने से तापमान में गिरावट महसूस की गई. आज दिन भर बदली भरा वातावरण छाया रहा.

    नौतपा में अगले पांच दिनों में जोरदार धूप पडने से इस वर्ष का मानसून अच्छा रहने की उम्मीदें सभी ने लगा रखी है. पिछले तीन चार दिनों से धीरे धीरे तापमान में वृध्दि हो रही थी परंतु आज नौतपा के पहले ही दिन जोरदार धूप और लू की लहर महसूस होने के अनुमान के बिल्कुल विपरित दिन भर बदली छायी रही. मौसम में भी गिरावट महसूस की गई.

    आज तापमान में कल के मुकाबले 2 डिसे की गिरावट हुई है. जहां एक ओर कल का तापमान 42.6 डिसे था वहीं गिरकर आज 40.6 डिसे हो गया. आमतौर पर मई के महीने में इन दिनों भीषण गरमी पड़ती है और अन्य दिनों के मुकाबले ग्रीष्मकाल में सबसे अधिक 47 डिसे तक इन दिनों तापमान पहुंच जाता है. कई बार तो विश्व नक्शे में विश्व के सबसे गर्म शहरों में चंद्रपुर शहर की गिनती हो चुकी है.

    परंतु पिछले दो वर्षों से कोरोना काल में लॉकडाऊन का असर मौसम पर भी पड़ा है और तापमान 44 से 45 डिसे से ऊपर नहीं पहुंच पाया है. इस बार भी अब तक तापमान मात्र 43 डिसे तक पहुंचा था.  नौतपा के पूर्व जिस तरह से धीरे धीर तापमान में वृध्दि हो रही थी उससे लगा की तापमान बढकर कम से कम 45 डिसे तक पहुंचेगा परंतु नौतपा के पहले ही दिन ही मृगछाया पडने से आनेवाले दिनों में अधिकतम तापमान के 43 डिसे के भीतर रहने की संभावना है.

    पिछली बार तो नौतपा में बारिश होने से मानसून औसतन रहा और किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा. इस बार मौसम विभाग के अंदाज के मुताबिक मानसून इस बार शीघ्र पहुंचेगा. हालांकि मौसम विभाग ने इस बार अच्छे मानसून की संभावना जतायी है परंतु जिस तरह से नौतपा में स्थिति बनी है उससे किसान भी चिंतित है.