निर्मल गांव में फैल रही है गंदगी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को भी नहीं बख्शा

  • जनस्वास्थ्य खतरे में

चंद्रपुर. नागभीड़ तहसील के वाढोणा मे प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के आसपास गांव के नागरिक खुले में शौच करने से जनस्वासथ्य पर इसका असर हो रहा है, गंदगी से अस्पताल में आनेवाले मरीजों का हाल बेहाल है.प्रशासन गांव में शौचालय की व्यवस्था करें ऐसी मांग उठ रही है.

हर घर में शौचालय ऐसा संदेश सरकार ने दिया है, परंतु स्वच्छ मिशन योजना अब तक यहां ग्रामीणों तक नहीं पहुंच पायी है. घर में शौचालय बनाये, खुले में शौच को ना जाए इस बारे में यहां के ग्रामीणों में जनजागृति नहीं हो पायी है ऐसा प्रतीत होता है. ग्रामपंचायत द्वारा खुले में शौच करनेवालों को दंडित किया जाता है परंतु यहां ग्रामीण बेखौफ होकर खुले में शौच कर रहे है. इससे अस्पताल के मरीजों एवं मार्निंग वॉक की ओर जानेवाले नागरिकों को रास्ते से आवागमन करते हुए बेवजह परेशानी उठानी पड़ रही है.

रिकार्ड में शतप्रतिशत निर्मल ग्राम

ग्रामपंचायत के रिकार्ड पर शतप्रतिशत निर्मल दिखाया जा रहा है परंतु प्रत्यक्ष में मात्र वस्तुस्थिति अलग है. गांव में जहां तहां गंदगी फैलायी जा रही है. गांव को निर्मल करने के लिए प्रशासन ध्यान दें ऐसी ग्रामीणों की मांग है.

गंदगी से मरीज परेशान – राहुल ए. डोर्लीकर

प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र वाढोणा के वैद्यकीय अधिकारी राहुल ए. डोर्लीकर का कहना है प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में आनेवाले मरीज एवं स्वास्थ्य केन्द्र के कर्मचारियों को  परिसर में फैली गंदगी से परेशानी है, उनका काम करना कठिन हो गया है. प्रशासन को इस समस्या पर ध्यान देने की आवश्यकता है.