श्रद्धांजलि में अनुपस्थित रहा आमटे परिवार

चंद्रपुर. समाजसेवी स्व. बाबा आमटे की पोती, महारोगी सेवा समिति की मुख्यकार्यकारी अधिकारी डा. शीतल आमटे की मौत मामले पुलिस की जांच धीमी गति से शुरू है. वहीं आज रविवार 13 दिसंबर को आनंदवन में लिए गए श्रध्दांजलि कार्यक्रम में आमटे परिवार की अनुपस्थिति चर्चा का विषय बनी रही.

डा.शीतल आमटे की मृत्यु के 14 वें दिन आज रविवार को सुबह करजगी परिवार की ओर से श्रध्दावन समाधि स्थल पर श्रध्दांजलि कार्यक्रम रखा गया था. जिसमें मित्र परिवार के सदस्य उपस्थित थे. सभी ने डा. शीतल के प्रतिमा पर पुष्पहार अर्पण कर भावपूर्ण श्रध्दांजलि अर्पित की. डिजीटल मीडिया के माध्यम से विदेश से भी मित्रों ने डा.शीतल पर शोक संदेश दिया.

इस समय आमटे परिवार की ओर से कार्यक्रम में कोई उपस्थित नहीं  था. आमटे परिवार की ओर से डा.मृणाल काले ने विकास आमटे का पत्र पढकर सुनाया. उनकी अनुपस्थिति के बारे में जब करजगी परिवार से पूछा गया तो किसी ने कोई जवाब नहीं दिया. केवल इतना कहा कि वें सपरिवार आनंदवन से पुणे के लिए रवाना हो रहे है. आनंदवन का कार्यभार कौन संभालेगा इसका भी वें कोई जवाब नहीं दे पाये.

अन्य लोगों की यही प्रतिक्रिया थी कि डा. शीतल आमटे के अचानक जाने से आनंदवन परिवार को अपूरणीय क्षति पहुंची है. आगे भी उनके कार्य और उनके विचारों पर आनंदवन कार्य करेंगा.

30 नवंबर को डा. शीतल आमटे करजगी की मौत के बाद 14 दिन बीतने के बाद भी उनकी मौत की मूल वजह सामने नहीं आ पायी है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट, लैपटॉप, टैब, मोबाईल में दर्ज उनकी जानकारी, फॉरन्सिक रिपोर्ट आदि पर पुलिस ने चुप्पी साध रखी है.