fake-doctors should not be treated with treatment - CEO

कोरोना की वजह से लोग बिना किसी प्रकार की पडताल के चिकित्सक से उपचार कराते है। किंतु गलत उपचार से रोगी की मृत्यु की संभावना होती है।

चंद्रपुर. जिले में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ रहा है लगातार 12 दिनों तक 200 से कम संक्रमित मिलने के बाद 14 अक्टूबर को पुन: 315 कोरोना संक्रमित मिलने से स्वास्थ्य विभाग में चिंता फैल गयी है। कोरोना की वजह से लोग बिना किसी प्रकार की पडताल के चिकित्सक से उपचार कराते है। किंतु गलत उपचार से रोगी की मृत्यु की संभावना होती है। इसलिए सिर्फ रजीस्ट्रेशन कराये, डिग्री प्राप्त चिकित्सक से ही उपचार कराये। किसी भी सूरत में झोलाछाप डाक्टरों से उपचार न कराने की अपील जिला परिषद के सीईओ राहुल कार्डिले ने की है।

बिना डिग्री प्राप्त डाक्टरों से कोरोना से मिलते जुलते लक्षण वाले सारी, आईएलआई रोगियों की जानकारी नहीं मिल रही है। इसलिए जिला प्रशासन को प्रतिबंधक उपाय योजना करने में बाधा निर्माण हो रही है। जिले के सभी तहसील में झोलाछाप डाक्टर अवैध रुप से उपचार कर रहे है। यह लोग नागरिकों की लूट के साथ उनकी जान से खिलवाड भी करते है। इस प्रकार के झोलाछाप डाक्टरों के हास्पिटल पर तहसील स्तरीय दल से छापा मारकर उनके खिलाफ पुलिस स्टेशन में अपराध दर्ज कराने के आदेश भी जिला परिषद के सीईओ राहुल कार्डिले ने सभी तहसील के स्वास्थ्य अधिकारियों को दिये है।