Tigress died of kidney disease
Fi

तलोधी बा. अपने खेत में काम कर रहे एक किसान पर दबिश देकर बैठे बाघ ने हमला कर दिया और उसे 150 मीटर दूर तक घने जंगल में घसीटते ले गया. मृत किसान का शव आज शुक्रवार की सुबह 9 बजे मिला.

नागभीड वनपरक्षिेत्र अंतर्गत तुकुम निवासी किसान राजेंद्र संभाजी गणवीर (55) गुरुवार की सुबह घोडाझरी जंगल से सटे अपने खेत में खरीफ बुआई के लिए गया था. देर शाम तक उसके न लौटने पर परिजनों ने 5 से 6 पडोसियों की सहायता से उसकी तलाश शुरु की. किंतु जल्द ही रात हो जाने से सभी लोग निराश होकर लौट आए. इसके पश्चात परिजनों ने नागभीड पुलिस को सूचना दी. आज पुनर्‍ खेत में जाकर राजेंद्र को तलाशने का प्रयास शुरु किया तो खेत में उसके चप्पल और अन्य सामान पडा मिला. पास ही बाघ के पंजे के निशान दिखाई दिए. इससे अनुमान लगाया कि बाघ ने ही राजेंद्र पर हमला किया होगा. आस पास के 150 से 250 मीटर जंगल परिसर में तलाश करने पर राजेंद्र गणवीर का आधा खाया शव मिला. बाघ किसान पर हमला कर जंगल में लगभग 150 मीटर तक घसीटता ले गया.

तुकुम परिसर में बाघ के हमले में किसी किसान के मारे जाने की इस वर्ष की यह पहली घटना है. इस घटना के बाद अब किसानों में भय व्याप्त है. इस बाघ की तालश कर इसके बंदोबस्त की मांग किसानों ने वनविभाग से की है. वनविभाग की टीम ने परिसर में ट्रैप कैमरे लगाए है.

मौके पर पहुंची पुलिस और वनविभाग की टीम ने शव का पंचनामा कर शव वच्छिेदन के लिए ग्रामीण हास्पिटल नागभीड भेज दिया है. मृतक राजेंद्र गणवीर के परिजनों को वनविभाग की ओर से तत्काल आर्थिक सहायता दी गई है. घटनास्थल पर नागभीड वनपरक्षिेत्र अधिकारी महेश गायकवाड, वनरक्षक राहुल बुरले, वनरक्षक राहुल वगारे, थानेदार सोनेकर, झेप निसर्गमत्रि संस्था के डा. पवन नागरे, जिप सदस्य संजय गजपुरे, नप उपाध्यक्ष गणेश तर्वेकर, नप के नर्मिाणकार्य सभापति सचिन आकुलवार आदि उपस्थित थे.