बारिश

  • 145 प्रश सिंदेवाही
  • 62.5 प्रश भद्रावती

चंद्रपुर. इस वर्ष खरीफ फसल के लिए अब तक समाधानकारक बारिश हुई है. सिंदेवाही में सर्वाधिक 145 प्रश, जबकि भद्रावती में सबसे कम 62.5 प्रश बारिश हुई है. कृषि विभाग ने भी किसानों को शतप्रतिशत बारिश के बिना बीज बुआई नहीं करने की सलाह दी थी. जिस तरह से एक जून से लेकर 17 जून तक पूरे जिले में बारिश ने अपना असर दिखाया है, उससे जिले में किसानों ने खेतों को बुआई के लिए तैयार कर लिया है.

पिछले साल दिया था धोखा
पिछले वर्ष शुरू में प्री मानसून की बारिश के बाद मानसून एकदम से नदारत हो गया था. जिसके कारण जून और जुलाई दोनों महीनों में काफी कम प्रमाण में बारिश होने से किसानों को दोबारा बुआई की नौबत आ गई थी. इस बार जून की शुरुआत से ही अच्छी बारिश हो रही है. बुधवार की सुबह से लेकर गुरुवार की सुबह तक हालांकि पूरे जिले में बारिश का प्रमाण काफी कम रहा. गुरुवार को दोपहर को शहर सहित कई स्थानों पर देर शाम तक धूप खिली हुई थी.

बुधवार की सुबह से लेकर गुरुवार की सुबह तक चंद्रपुर में 0.4 मिमी, मूल में 16.1 मिमी, गोंडपिपरी में 5.1 मिमी, वरोरा में 0.3 मिमी, भद्रावती में 0.7 मिमी, चिमूर में 0.9 मिमी, ब्रम्हपुरी में शून्य, नागभीड़ में 1.8 मिमी, सिंदेवाही में 12.8 मिमी, राजुरा में 8.3 मिमी, कोरपना में 2.5 मिमी, सावली में 1.4 मिमी, बल्लारपुर में 17.8 मिमी, पोंभूर्णा में 10 मिमी और जिवती में 1.4 मिमी बारिश हुई. चंद्रपुर में 124.2 प्रश, मूल में 123.3 प्रश, गोंडपिपरी में 93.2 प्रश, वरोरा में 122.1 प्रश, भद्रावती में 62.5 प्रश, चिमूर में 114.6 प्रश, ब्रम्हपुरी में 104.7 प्रश, नागभीड़ में 145.6 प्रश, सिंदेवाही में 139.8 प्रश, राजुरा में 96.9 प्रश, कोरपना में 160.9 प्रश, सावली में 92.7 प्रश, बल्लारपुर में 114.9 प्रश, पोंभूर्णा में 100.1 प्रश और जिवती में में 120.7 प्रश बारिश हुई है.