किसानों के खेतों तक पहुंचाया खाद, घाटकुल की महिला बचत समूह का उपक्रम

  • 5.75 लाख की हुई विक्री

पोंभूर्णा. वर्तमान में कोरोना महामारी के चलते लॉकडाऊन शुय है किसानों के कृषि के काम शुरू है. राज्य में आदर्श ग्राम के रूप मे प्रसिध्द घाटकुल के आधुनिक किसान धान उत्पादक गट एवं निर्मल महिला ग्रामसंघ ने उमेद अभियान के सहयोग से 5 लाख 75 हजार मूल्य के एक हजार बैग खाद किसानों को उनके खेतों पर जाकर पहुंचाया.

राज्य में आदर्श ग्राम के रूप में प्रसिध्द घाटकुल की महिला बचत समूह द्वारा विभिन्न अभिनव उपक्रम चलाये जा रहे है जिसके चलते जिला, विदर्भ एवं राज्य स्तरपर पुरस्कृत किया गया है. उमेद अभियान अंतर्गत तहसील अभियान प्रबंधन कक्ष, पंचायत समिति की ओर से सामूहिक खरीदी प्रक्रिया अंतर्गत कोरोना वायरस के पार्श्वभूमि पर खाद खरीदी करते हुए दुकानों में भीड़ ना हो, कोरोना से बचाव हो इसलिए जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल कर्डिले, कृषि विकास अधिकारी शंकर किरवे, गटविकास अधिकारी धनंजय सालवे के मार्गदर्शन में उक्त उपक्रम लिया गया.

आधुनिक किसान धान उत्पादक गट एवं निर्मल महिला ग्रामसंघ घाटकुल के संयुक्त तत्वावधान में सामूहिक खात खरीदी किया गया. इसमें 50 किसानों का 1000 बैग (50टन) खाद की विक्री की गई. इस उपक्रम की शुरूआत पं.स. सभापति अलका आत्राम, पं.स. सदस्य विनोद देशमुख, सरपंच प्रीति मेदाले के हाथों हरी झंडी दिखाकर की गई.

उमेद अभियान मार्फत अब तक तहसील के छह गांव में सामूहिक खाद खरीदी की प्रकिया चलायी जारही है. इस समय पं.स. कृषि अधिकारी निलेश भोयर, विस्तार अधिकारी शेंडे, , तहसील समन्वयक स्मिता आडे, तहसील अभियान प्रबंधक उमेद के राजेश दुधे उपस्थित थे. उपक्रम के लिए घाटकुल के बचत समूह सदस्य साथ ही कृषि एवं उद्योग सखी मालन, अशोक पाल, पुष्पा साईनाथ पावडे, प्रियदर्शनी दुधे, अलका पाल एवं अन्य सदस्यों ने प्रयास किए. कोरोना काल में गांव में ही किसानों के खेत पर बचत गुट की महिलाओं द्वारा खाद पहुंचाने पर किसानों ने समाधान जताया.