Home Quarantine

    • कोरोना टास्क समिति बैठक में कलेक्टर के निर्देश 

    चंद्रपुर. कोविड-19 मरिज पाए जानेवाले होमक्वारन्टाईन स्थान पर शुरूवात से 14 दिनों तक सामने के प्रवेशद्वार पर ही फलक लगाना अनिवार्य है. जिससे दूसरे संपर्क से दूर रहे व कोरेाना संक्रमण पर अंकुश लग सके. परंतु होमक्वारन्टाईन के मरिजों की ओर से यह फलक निकालने की शिकायत प्राप्त हो रही है. ऐसे में संबंधितों पर अपराध दर्ज करने के निर्देश कलेक्टर अजय गुल्हाने ने कोरोना टास्क समिति को दिए है.   

    जिलाधिश कार्यालय के बीस कलमी सभागार में कोरोना टास्क समिति की बैठक जिलाधिश अजय गुल्हाने की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई थी. इस समय जिला परिषद के सीईओं राहुल कर्डिले, महानगरपालीका आयुक्त राजेश मोहिते, अपर जिलाधिश विद्युत वरखेडकर, सहाय्यक जिलाधिश रोहन घुगे, शासकीय वैद्यकीय महाविद्यालय व अस्पताल के अधिष्ठाता डा. अरूण हुमणे, जिला शल्य चिकित्सक डा. निवृत्ती राठोड, आरटीपीसीआर के प्रभारी राजेंद्र सुरपाम, जिला टीकाकरण अधिकारी डा. संदिप गेडाम, समाजकल्याण के सहाय्यक आयुक्त अमोल यावलीकर प्रमुखता से उपस्थित थे. 

    जिले में स्वास्थ्य सेवक, कोरोना योद्धा, 45 वर्ष से अधिक व्याधीग्रस्त व 60 वर्ष से अधिक नागरिकों केा टीकाकरण कराना शुरू है. टीकाकरण 25 अप्रैल तक 100 प्रश पूर्ण करने का नियोजन करने की जानकारी जिलाधिश् गुल्हाने ने दिए है. फिलहाल 69 केंद्र पर कोरोना टीका दिया जा रहा है. जिसमें 20 मार्च तक 24 हजार डोज टीके नए से प्राप्त होने जा रहे है. उसके बाद 23 नए टीकाकरण केंद्र शुरू करने की तैयारी रखने के निर्देश जिलाधिश ने दीए है. प्रतिदिन कोरोना टीकाकरण का उद्दीष्ट 1500 तक बढाने की जानकारी दी. 

    फिलहाल धुपकाला शुरू होने से नागरीकों की सुविधा हेतु सुबह 8 बजे से रात के 8 बजे तक टीकाकरण केंद्र शुरू रखने के निर्देश स्वास्थ यंत्रणा को दिए. कोरेाना जांच हेतु जिले के सभी आर.टी.पी.सी.आर. केंद्र जल्द से जल्द बंद ना करते हुए शाम के 5 बजे तक शुरू रखने की जानकारी दी. प्रतिबंधित क्षेत्र के सभी नागरिकों की एन्टीजन टेस्टिंग करने के साथ ही सुपरस्प्रेडर, साप्ताहिक बाजार, स्कूल, आश्रमशाला व छात्रावास में नियमीत कोरोना जांच कराने के निर्देश दिए है. 

    जिलाधिश गुल्हाने ने 350 बेड का शासकीय महीला अस्पताल पूर्ण क्षमता के साथ शुरू करने, लिक्वीड ऑक्सिजन व औषधीयों का उचीत भंडार रखने की सूचना स्वास्थ विभाग को की. निजी अस्पताल व होटल में कोरोना बाधितों के लिए बेड उपलब्धता पर जायजा लिया. उपचार के लिए नागरीकों को अधिक से अधिक पर्याय उपलब्ध कराने के निर्देश यंत्रणा को दिए. इस समय स्वास्थ विभाग अधिकारी डा. सुधीर मेश्राम, वनिता गर्गेलवार व अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे. 

    • नागरीकों की सुरक्षा के लिए टीकाकरण का समय बढाए. 
    • टिकाकरण का प्रतिदिन 1500 का उद्दीष्ट रखे. 
    • जल्द ही 23 नए टीकाकरण केंद्र होंगे शुरू. 
    • साप्ताहिक बाजार व स्कूल में नियमीत कोरोना जांच करे. 
    • आरटीपीसीआर सेंटर शाम के 5 बजे तक शुरू रखे. 
    • निजी अस्पताल का पर्याय खुला रखे. 
    • प्रतिबंधित क्षेत्र के सभी की एन्टीजन कोरोना जांच करे. 

     

    • 24 घंटे में 136 पाजिटीव
    • 97 कोरोनामुक्त, 1 की मृत्यु   

    जिले में पिछले 24 घंटे में 136 नए बाधित पाजिटिव पाए गए. तो 97 बाधितों ने कोरोना पर मात करने से उन्हे अस्पताल से छुट्टी दी गई. जबकि 1 बाधित की मृत्यु हो गई. जिले में अबतक कुल बाधितों की संख्या 25,264 तक पहुची है. शुरूवात से अबतक 23,846 बाधित स्वस्थ हुए है. फिलहाल 1011 बाधितों पर उपचार शुरू है. अबतक 2,40,610 बाधितों के नमुनों की जांच की गई. जिनमें से 2,12,252 नमुने निगेटीव्ह पाए गए. गुरूवार को चंद्रपुर के अरविंद नगर निवासी 67 वर्षीय पुरूष की मृत्यु हो गई.