जिले में शत प्रतिशत सफल रहा जनता कर्फ्यू का पहला दिन

  • व्यापारियों ने बंद रखे अपने प्रतिष्ठान
  • महज दूध और दवाईयों के दूकान रहे शुरु

चंद्रपुर. जिले में तेजी से बढ रहे कोरोना संक्रमितों की संख्या को नियंत्रित करने के लिए प्रशासन ने आज 25 सितंबर से 1 अक्टूबर तक जिले में जनता कर्फ्यू लागू किया है। इस दौरान सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान, कपडा बाजार, किराना, फल और सब्जी दूकानदारों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखा जिससे जनता कर्फ्यू का पहला दिन शत प्रतिशत सफल रहा है।

इस दौरान पुलिस विभाग की ओर से आज से वाहनों के कागजादों की जांच की मुहिम शुरु की है। जिससे सडकों पर इक्का दुक्का वाहन चालक दिखाई दे रहे थे। इसके अलावा आवश्यक सेवा के वाहन ही सडकों पर चल रहे थे। शहर और जिले भर के मुख्य चौराहों पर पुलिस बंदोबस्त लगाया गया था।

वंचित बहुजन आघाडी ने किया विरोध

आज से जिले भर में लागू जनता कर्फ्यू की बैठक में आम आदमी पार्टी और वंचित बहुजन आघाडी ने विरोध किया था। इसके पूर्व 10 से 13 सितंबर के लगाये गये जनता कर्फ्यू के दौरान 1190 कोरोना बाधित मिले थे और उसी दौरान एक दिन में रिकार्ड 410 कोरोना बाधित पाये गये तो जो जिले में एक दिन में मिलने वालों मरीजों में सर्वाधिक है। इसके बावजूद प्रशासन ने अब इसी महीने दुबारा जनता कर्फ्यू की घोषणा कर रोज कमाकर खाने वालों को परेशानी में डाल दिया है। मार्च महीने से शुरु लाकडाउन की वजह से आम आदमी पहले ही हलाकान हो चुका है अनेकों के सामने भरण पोषण की समस्या के बाजवूद पुन: जनता कर्फ्यू से उनकी परेशानी बढते देख इसका विरोध प्रदर्शन किया है।

जिले भर में जनता कर्फ्यू को प्रतिसाद

आज से 7 दिनों के लागू जनता कर्फ्यू के पहले दिन आज शुक्रवार को जिले भर से भारी प्रतिसाद मिला है। आज जिले की बल्लारपुर, वरोरा, राजुरा, गोंडपिपरी, जिवती, कोरपना, पोंभूर्णा, मूल, सावली, नागभीड, सिंदेवाही, ब्रम्हपुरी, चिमूर, नागभीड और चंद्रपुर तहसील में भारी प्रतिसाद मिला और व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। पुलिस ने तगडे इंतेजाम कर रखे थे।