लॉकडाउन काल का 50 प्रतिशत बिजली बिल माफ करें

  • अन्यथा 1 को जिलाधीश कार्यालय पर मोर्चा

चंद्रपुर. कोरोना की वजह से देश और दुनिया में लाकडाउन लागू किया गया। लाकडाउन के दौरान सभी प्रकार के उद्योग, धंधे, रोजगार ठप पड़ गए थे। लोगों ने किसी प्रकार अपनी रोजमर्रा की जरुरतें पूरी की। कोरोना की वजह से बिजली विभाग के कर्मचारी मीटर रिडिंग लेने नहीं आए और विभाग ने एक मुस्त कई महीनों का बिजली बिल भेज दिया। इसलिए बेतहाशा बिजली बिल की 50 प्र.श. की राशि कम करने की प्रमुख मांग समेत अन्य मांगों के लिए 1 दिसंबर को जिलाधीश कार्यालय पर मोर्चे की चेतावनी युवा स्वाभिमान पार्टी के जिलाध्यक्ष सुरज ठाकरे ने दी है।

ठाकरे ने कहा कि विदर्भ में लौटते मानसून से सोयाबीन, मूंग,उडद, संत्रा, कपास, अरहर, गन्ना, धान जैसी फसलों का भारी नुकसान पहुंचया है इसलिए किसानों को नुकसान भरपाई दे, सोयाबीन जैसी नकदी फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गई और कपास पर बोंड इल्ली ने हमला कर दिया, किसानों की दिवाली अंधेरे में बीती इसलिए किसानों को प्रति हेक्टेयर 50,000 रुपए नुकसान भरपाई, किसानों के खेत के मेड पर जाकर नुकसान का मुआयना करें और अधिक आया बिजली बिल माफ करने की मांग की है। मांग पूरी न होने पर 1 दिसंबर को जिलाधीश कार्यालय पर मोर्चे की चेतावनी  दी है। पत्र परिषद में ठाकरे के साथ निखिल बजाईत, नागेश इटेकर, प्रफुल कोरने, राहुल चौहान, अजशन टाक, कुक्कु सोनाई, रितिक बिसाई आदि उपस्थित थे।