9,27,000 new cases of Covid-19 were reported in Europe in a week
File Photo : PTI

  • भोजवार्ड में नागरिकों में डर का वातावरण

चंद्रपुर. एक कोरोना बाधित को चंद्रपुर रेफर करते हुए बीच रास्ते में मौत होने पर उसका शव सरकार को सौपने के बजाय अंतिम संस्कार के लिए शव घर लाने से भद्रावती शहर के भोजवार्ड में लोगों में दहशत का वातावरण निर्माण हो गया।

भोजवार्ड में मृतक अपने दामाद के घर आये थे इस बीच उनकी तबीयत बिगडने पर अस्पताल में उनकी जांच की गई तो कोरोना पॉजिटिव पाये गए। इसके चलते उन्हें जैन मंदिर के कोविड सेंटर में उपचार के लिए रखा था। इसके बाद उन्हें होम क्वारंटाईन किया गया। इस बीच फिर से तबीयत बिगडने पर उन्हें वैद्यकीय अधिकारी ने चंद्रपुर कोविड सेंटर में रैफर कर दिया।

इस बीच रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। परिवार ने जानकारी छिपाकर घर लाया और घर में ही रखा और कई लोगों ने पार्थिव के दर्शन लिए। इसके बाद विधित अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस बीच स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंचने से परिसर में खलबली मच गई।

इस बारे में तहसीलदार से पूछा गया तो उनका कहना था कि मरीज कोविड सेंटर में उपचार ले रहा था। तडके डा. किन्नाके का फोन आया था कि मरीज को चंद्रपुर में रेफर किया है। परंतु उनके रिश्तेदारों ने बीच रास्ते में मृत्यु होने पर घर लाने की जानकारी तहसीलदार महेश शिताले ने दी।

प्रशासन को गुमराह करनेवालों पर होगी कार्रवाई- शिंदे
कोविड मरीजों का शव घर लाकर उनका अंतिम संस्कार किए जाने से संतप्त नागरिकों ने शिकायत किए जाने से इस प्रकरण में प्रशासन को गुमराह करनेवालों पर कार्रवाई करने के निर्देश उपविभागीय अधिकारी शिंदे ने दिए है।