marijuana
File Photo

    बल्लारपुर . गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने शहर के सुभाष टाकीज परिसर में पुलिस ने तेलंगाना निवासी 2 आरोपियों के पास से 22 किलो गांजा जब्त कर गिरफ्तार किया. जब्त किए गांजा और कार समेत पुलिस ने कुल 5.20 लाख का माल जब्त किया गया. पुलिस ने कार्रवाई गुरुवार की शाम करीब 5.30 बजे की. आरोपियों के नाम पेदापल्ली इंकलाईन कालोनी क्वार्टर नं. 2109 जि. करीमनगर निवासी जयपाल येडला (37) और हनुमान वार्ड धमरपुरी निवासी हरीष श्यामराव (35) है.

    सुभाष टाकीज के पास बिछाया जाल

    पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि पड़ोसी तेलंगाना राज्य से शहर में गांजे की तस्करी की जा रही है. इस आधार पर पुलिस ने सुभाष टाकीज के पास जाल बिछाया. शाम को इंडिका क्र. टीएव-02 एफडी-6090 आती दिखाई दी. पुलिस ने कार को रोककर उसकी तलाशी ली. तो कार में 22 किलो गांजा बरामद हुआ. पुलिस ने गांजा जब्त कर लिया. गांजे की कीमत 2.20 लाख और 3 लाख रुपए कीमत की कार ऐसे कुल 5.20 लाख का माल जब्त कर 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने कार्रवाई नायब तहसीलदार कुलसंगे के समक्ष की. जांच बल्लारपुर पुलिस कर रही है.

    वर्षों से हो रही तस्करी

    औद्योगिक नगरी बल्लारपुर में वर्षों से पड़ोसी तेलंगाना तत्कालीन आंध्रप्रदेश राज्य से गांजा की तस्करी होती आ रही है. गांजा तस्कर अपनी कारगुजारी को अंजाम देने के लिए मुख्य रूप से दक्षिण एक्सप्रेस ट्रेन का प्रयोग करते थे. यह ट्रेन तड़के 4 बजे बल्लारशाह स्टेशन पर पहुंचती थी. इसके लिए गांजा तस्कर हैदराबाद से गांजा रखकर ट्रेन में सवार हो जाते और बल्लारशाह स्टेशन के पहले बामनी के पास वर्धा नदी पर पुल है जहां पर मोड़ है. इसकी वजह से वहां पर ट्रेन की गति कम हो जाती थी.

    गांजा तस्कर उसी जगह पर साथ लाया गांजा फेंक देते थे और उनके सहयोगी वहां पर इंतजार करते थे. वहां से गांजा को बल्लारशाह से लाकर यहां से पड़ोसी मध्यप्रदेश राज्य तक भेजा जाता था. किंतु अब ट्रेन बंद हो जाने के बाद से सड़क मार्ग से तस्करी की जा रही है. कुछ दिनों पूर्व इसी प्रकार चंद्रपुर अपराध शाखा की टीम ने तेलंगाना से लाया 30 लाख का गांजा जब्त कर अंतरराज्ययीय तस्करों को गिरफ्तार किया था.