गिरिजा किन्नाके द्वारा लगाए आरोप बेबुनीयाद, अब्बास अली की पत्रपरिषद में जानकारी

भद्रावती. फर्जी कागजाद तैयार कर फर्जी दस्तखत कर मकान हडपने का आरोप गिरिजा कन्नाके ने पत्रपरिषद में किया था. इस संदर्भ में लगाए आरोप पुरी तरह से बेबुनीयाद है. गिरिजा कन्नाके के खिलाफ न्यायालय में 25 लाख का दावा ठोकने की जानकारी सुमठाना वार्ड निवासी तथा शहर के अमन गारमेंट्स के संचालक अब्बास हुसेन बशरत अली ने पत्रपरिषद में दी है. 

अब्बास अली ने पत्रपरिषद में बताया, भद्रावती शहर का प्रतिष्ठीत व्यापारी है. पिछले कई वर्ष से भद्रावती शहर में निवासीत है. वर्ष 2012 में पैसे देकर गिरीजा किन्नाके नामक महिला से मकान खरिदा है. संबंधित जगह नजुल विभाग की होने से 3 लाख 50 हजार रूपये किन्नाके को दिए है. उस तरह का बिक्रीपत्र 14 मार्च 2012 को 100 रूपये के स्टैंप पर दो गवाहों समक्ष तैयार किया. उसपर किन्नाके ने स्वयं हस्ताक्षर की व बिक्री के लिए मंजुरी दी.

नगरपालिका में मकान पर अधिकार दर्ज है. बिजली बिल, संपत्ती कर, अन्य कर, असेसमेंट प्रत पर अब्बास अली का नाम दर्ज है. गिरिजा किन्नाके ने कुछ लोगों की सहायता से अब्बास अली के विरोध में 22 मई 2020 को संरक्षण दिवार के निर्माण पर नपा में शिकायत की. तथा पुलिस स्टेशन में फर्जी कागजाद तैयार कर मकान हडपने की शिकायत दर्ज की. दोनों शिकायते झुठी है साथ ही गिरिजा किन्नाके द्वारा परेशान किए जाने की जानकारी दी गयी.

गिरिजा किन्नाके ने पत्रपरिषद में जानकारी देकर झुठे आरेाप किए है. इस संदर्भ में न्यायालय में 25 लाख का दावा ठोकने की जानकारी अब्बास अली ने दी है. पत्रपरिषद में मोहम्मद अन्वर, शेख जाकीर, मोहम्मद जाफर, अब्दुल मतीन व अब्दुल अकील उपस्थित थे.