Fraud

    चंद्रपुर. कोरोना के कारण कई लोग व युवक बेरोजगार हुए है. उच्च शिक्षित बेरोजगार युवकों के हाथ को अब की स्थिति में काम नही होने से वह अपराधीक दूनियां की ओर पलट रहे है. उच्च शिक्षित युवक वर्ग बुध्दी का उपयोग अच्छे कामों के लिए ना करते हुए सायबर अपराधों में स्वयं की बुध्दी व्यर्थ में लगा रहे है.

    यही उच्चशिक्षित युवक बेरोजगार युवकों को नोकरी का लालच देकर डमी वेबसाईट बनाकर लोगों के खातों के पैसों पर हाथ साफ कर रहे है. इसलिए आनलाईन वेबसाईट पर किसी भी प्रकार की जानकारी देने से पहले सावधानी बरतने का आह्वान सायबर पुलिस ने किया है. 

    कोरेाना में कई कंपनीयों ने युवकों को नोकरी से हटाने से बेरोजगारों की संख्या बढ गयी है. कई युवक नोकरी की तलाश में है. कई युवकों ने जाब दिलानेवाले कंपनीयों के पास आवेदन किए है. इसी का फायदा उठाकर कई युवक साईबर अपराध कराने में सक्रिय हुए है. कई लोग मोबाईव व मेल पर आनेवाले लिंक पर क्लिक कर वैयक्तिक जानकारी देते है.

    कईयों को आज ना कल नोकरी संदर्भ में कुछ जानकारी मिलेगी ऐसी जानकारी दी जाती है. परंतु उनके खाते में जमा राशी पर हाथ साफ कर दिया जा रहा है. बैंक में आधार कार्ड व मोबाईल क्रमांक बैंक अकाऊंट से कनेक्ट होने के कारण इस तरह की धोखाधडी दिनों दिन बढ रही है जो की चिंताजनक है. कई लोग बदनामी के कारण पुलिस में जाना पसंद नही कर रहे है. किसी भी प्रकारी की निजि कंपनी साक्षात्कार के पहले केवल वैयक्तिक जानकारी के आधार पर नोकरी नही देता.

    बिना साक्षात्कार के कोई भी कंपनी प्रबंधन नोकरी का आफर लेटर मेल पर नही भेजता इसलिए ऐसे मेल पर जवाब देना टालने का प्रयास करे. नोकरी, कर्ज, पुरस्कार जितने के संदेश आने के पहले उसके सच्चाई की पुष्टी करने के बाद ही रिप्लाय दे, बैंक से कभी भी फोन, मैसेज व मेलद्वारा वैयक्तिक जानकारी नही पुछी जाती ऐसे फोन व मैसेज का जवाब देना टालने का आह्वान सायबर पुलिस ने किया है.