कोरोना मरीज का ‘वह’ वायरल ऑडियो तथ्यहीन, डीन डॉ एस एस मोरे ने किया खुलासा

चंद्रपुर. सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के डीन एस. एस. मोरे ने वाइरल ऑडिओ क्लिप को ख़ारिज कर उसे तथ्यहीन बताया है। मोरे ने कहा, 17 मई को नई दिल्ली से ब्रम्हपुरी पहुंचे मरीज पर शुरू से संदिग्ध मरीज के तौर पर इलाज कराया गया। इस मरीज का किसी अन्य पॉजिटिव मरीज के साथ कोई संबंध नहीं आया। लेकिन मरीज पॉजिटिव रिपोर्ट आने के कारण डर गया है। इसलिए इसपर बहुत ही सहानुभूति के साथ इलाज कराया जा रहा है। 

ब्रम्हपुरी के व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद यह ऑडियो और विडिओ क्लिप वायरल हो गयी थी। जिसके बाद कलेक्टर डॉ कुणाल खेमनार ने डॉ मोरे को संबंधित क्लिप के तथ्यों को स्पष्ट करने के निर्देश दिए। इस संबंध में कलेक्टर डॉ. कुणाल खेमनार ने शुक्रवार को खुप स्वास्थ्य व्यवस्था का निरिक्षण किया। डॉ. मोरे द्वारा दिए लिखित बयान के अनुसार, रोगी की स्थिति स्थिर है। डर के कारण वायरल इस ऑडियो वीडियो में कोई तथ्य नहीं है ऐसा उन्होंने स्पष्ट किया। 

डॉ मोरे ने कहा, ICMR के दिशानिर्देशों के अनुसार कोरोना पॉजिटिव मरीज के लिए सभी आवश्यक सेवाएं चंद्रपुर में उपलब्ध हैं। यदि रोगी को अन्य बीमारियां हैं और इस संस्थान में सुविधा उपलब्ध नहीं है, तो उसे नागपुर के सरकारी मेडिकल कॉलेज व् अस्पताल में भेजा जाता है। लेकिन ब्रह्मपुरी के मरीज की हालत स्थिर है और उन्हें नागपुर भेजने की कोई आवशकता नहीं है। 

डॉ मोरे ने अपने बयान में यह भी कहा कि, इस प्रकार के झूठे आरोप के कारण वर्तमान में दिन-रात मरीजों की सेवा में लगे स्वास्थ्य विभाग की मानहानि होती है।