बाढ़ पीड़ितों पर अन्याय हुआ, तो आंदोलन – एड. गोस्वामी ने दी चेतावनी

ब्रम्हपुरी. 15 दिनों पहले वैनगंगा नदी में आई बाढ़ के कारण तहसील के 25 गांवों में काफी नुकसान हुआ. तहसील के खरकाड़ा गांव में बाढ़ का पानी घुस जाने से कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए. बाढ़ पीड़ितों का सरकार की ओर से सर्वे किया गया. लेकिन पुरानी बस्ती के नागरिकों का सर्वे में समावेश नहीं होने से आम आदमी पार्टी की एड. पारोमिता गोस्वामी ने खरकाड़ा में नए से सर्वे कर पीड़ितों का समावेश करने की मांग की.

बाढ़ पीड़ितों के साथ अन्याय हुआ, तो तीव्र आंदोलन की चेतावनी उन्होंने दी. तहसीलदार विजय पवार ने पंचनामा के लिए नई टीम गठित कर सर्वे करने के आदेश दिए. प्रतिनिधिमंडल में किशोर प्रधान, शंकर ठाकरे, माणिक मुले, अशोक मेश्राम, चक्रधर कुथे, विवेक दाणे, हीरामण मूले, किसन दहीकर, यशवंत ठाकरे, देवला लांजेवार, ललिता दाणे, सचिन प्रधान, अविनाश बेदरे, गौतम टेभुर्णे, विजय ढोरे, सुभाष बगमारे, देवीदास मेश्राम, नलू शिऊरकार, महेश दाणे, मनीष बेदरे, नरेश लांजेवार आदि शामिल थे.