Road in Vasuli village of Chakan is in ruins, people are getting worried

    चंद्रपुर. साखरवाही मार्ग पर नागपुर-चंद्रपुर महामार्ग को जोडने वाले रास्ता कुछ वर्ष पूर्व पूर्ण हुआ. नागपुर से चंद्रपुर महामार्ग से लायडस ग्राम कालोनी तक रास्ता पूर्ण रूप से मजबूत और सीमेंट क्रांकिट का बनाया गया था.मात्र पिछले वर्ष भर से लायड्स ग्राम कालोनी में म्हातारदेवी, रेलवे गेट तक का रास्ता मात्र वैसे रखा गया था. काफी पत्राचार किए जाने के बाद उक्त रास्ता तीन माह पूर्व ही सार्वजनिक निर्माणकार्य विभाग द्वारा ठेकेदार मार्फत पूरा किया गया.

    तीन महीने पूर्व तैयार किए गए रास्ते की पहली बारिश में ही कलई खुल गई. जगह जगह गिट्टी और डामर उखडकर रास्ते पर बिखरने से गड्ढे निर्माण हो गए. इस मार्ग पर बड़े पैमाने पर भारी वाहनों का आवागमन होता है. लायड्स कंपनी, वेकोलि साथ ही अन्य कंपनियों के कर्मचारी इस मार्ग से काम के सिलसिले में कार्यस्थल पर आवागमन करते है.

    रास्ते की दयनीय अवस्था के कारण बारिश के दिनों में बड़े पैमाने पर दुर्घटना की संभावना बढ गई है. कई दुर्घटनाएं भी इस रास्ते पर हुई है. आज की परिस्थिति में जान हथेली पर रखकर दुपहिया सवार कर्मचारी कार्यस्थल पर आवगमन के लिए विवश है.

    महामार्ग से लॉयडस ग्राम कालोनी तक सीमेंट क्रांकिट रोड बनाने के बाद सामने घुग्घुस तक रास्ते का सीमेंटीकरण क्यो नहीं किया गया यह यक्ष प्रश्न है. सार्वजनिक निर्माणकार्य विभाग द्वारा तुरंत इस रास्ते की अवस्था सुधारने के लिए कदम उठाना चाहिए ऐसी मांग परिसर की जनता ने की है.

    मात्र वर्तमान स्थिति में लायड्स ग्राम कालोनी से म्हातारदेवी रेलवे गेट के बीच तीन माह पूर्व ही तैयार किए गए रास्ते को ऐसी दुर्दशा क्यो हुई है इसका कारण खोज कर रास्ते का निर्माणकार्य करनेवाले ठेकेदार एवं रास्ते की दयनीय अवस्था के लिए जिम्मेदार सार्वजनिक निर्माणकार्य विभाग के अधिकारियों से जांच कर शासन द्वारा उन्हें उचित रूप से दंडित किए जाने की मांग अब नागरिकों द्वारा की जा रही है.