In the rainy season 75.16 percent of the water reservoirs of the district. Reservoir

अक्टूबर का आधा महीने बीत रहा है इसके बाजवूद जिले के जलाशय आज भी प्यासे है।

  • 11 में से महज 4 जलाशयों में है शत प्रतिशत पानी
  • रबी के मौसम में किसानों को होगी परेशानी

चंद्रपुर. अक्टूबर का आधा महीने बीत रहा है इसके बाजवूद जिले के जलाशय आज भी प्यासे है। 14 अक्टूबर तक जिले के महज 4 जलाशयों में शत प्रतिशत पानी भरा है वहीं 7 जलाशय आज भी प्यासे होने से जिले के कुल जलाशयों में 75.16 प्र.श. जलभंडार है। जिले भर के आधे से अधिक जलाशय आज खाली पड़े हुए हैं। अब तो लौटते मानसून की बरसात हो रही है। इसकी वजह से किसानों को खेतों में सिंचाई करने में परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। 

हालांकि हर वर्ष जिले के अधिकांश जलाशय बरसात के दिनों में ओवरफ्लो होकर बहते थे जिससे कई बार बांध के दरवाजे खोलने पडते थे। किंतु इस वर्ष अधिकांश जलाशय शत प्रतिशत नहीं भर सके जिससे किसानों में चिंता है। जल संसाधन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार यदि रबी में सिंचाई करना पड़ा तो उसके लिए प्रर्याप्त पानी शायद ही रहेगा। चंद्रपुर के इरई बांध से भले सिंचाई नहीं होती है किंतु चंद्रपुर सुपर थर्मल पावर स्टेशन के बिजली उत्पादन और चंद्रपुर महानगर को पेयजल की सुविधा इरई बांध से ही उपलब्ध हेाती है। इस वर्ष इरई बांध अपनी क्षमता के अनुसार लबालब नहीं भरा जिसकी वजह से बांध के दरवाजे एक भी नहीं खोलने पडे। इसकी वजह से ग्रीष्मकाल के दिनों में सीटीपीएस को बिजली उत्पादन और चंद्रपुर शहर में पेयजल का संकट हो सकता है। वैसे भी प्रतिवर्ष इरई बांध को लेकर ग्रीष्मकाल के दिनों में राजनीति गर्मा जाती है कि बांध का पानी पहले पेयजल के लिए दिया जाये उसके बाद ही थर्मल पावर स्टेशन के बिजली उत्पादन के लिए। ग्रीष्मकाल के दिनों में इरई बांध में पर्याप्त जलभंडार न होने की वजह से कई बार यूनिट बंद करने पडते है। जिससे बिजली संकट पैदा होता है।

आगामी 4 दिनों में हल्की बरसात की उम्मीद

मौसम विभाग ने 14 से 18 अक्टूबर के बीच चंद्रपुर जिले की 15 तहसीलों में कुछ हिस्सों में हल्की और बहुत हल्की बरसात का अनुमान व्यक्त किया है। जिससे जिले के जलाशयों के जलभंडार में बहुत अधिक मात्रा में पानी संचित होन की संभावना कम ही है। इसका असर आगामी ग्रीष्मकाल में देखने को मिलेगा। 

जिले के जलाशयों की वर्तमान स्थिति

जलाशय    जलाशयों में संचित पानी का प्र.श.
    आसोलामेंढा        84.12
इरई        77.27
घोडाझरी         35.14
   नलेश्वर          25.77 
चंदई        29.46
      चारगांव               38.90
  लभानसराड        100
  अमलनाला           100
     पकडीगुड्डम          100
डोंगरगांव     100
  दिना           84.16