Leopards found dead in Londholi forest of Savli tehsil

सावली तहसील के लोंढोली जंगल परिसर में आज सोमवार की सुबह एक तेंदुआ मृत अवस्था में मिलने से वनविभाग में खलबली मच गई है।

  • हिंसक प्राणी से भिडंत में तेंदुएं के मृत्यु की संभावना

चंद्रपुर. सावली तहसील के लोंढोली जंगल परिसर में आज सोमवार की सुबह एक तेंदुआ मृत अवस्था में मिलने से वनविभाग में खलबली मच गई है। सूचना के आधार पर वनविभाग की टीम मौके पर पहुंची और पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए चंद्रपुर ले आई है। तेंदुएं की मृत्यु दूसरे हिंसक जानवर के साथ हुई भिडंत में जाने का प्राथमिक अनुमान वनविभाग ने व्यक्त किया है।

सावली तहसील के कक्ष क्रं. 1534 के पास खेत परिसर में मादा तेंदुआ मरा अवस्था में मिला। स्थानीय ग्रामीणों को सूचना मिलते ही उसे देखने वालों की भीड उमड पडी। ग्रामीणों ने सिरसी के वनरक्षक चौधरी को ने सूचना दी। उन्होंने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी। इस आधार पर वन अधिकारियों की टीम मौके पर पहुंची और पंचनामा किया। मादा तेंदुएं के कमर, पेट में चोट आई और उसके दांत, नाखून टूटे होने से संभावना व्यक्त की उसकी मृत्यु दूसरे हिंसक जानवर के साथ हुई भिडंत में हुई होगी।

महीने भर में दूसरी घटना
सावली तहसील के अंतरगांव स्थित नवभारत शाला परिसर में एक तेंदुएं का शावक मर अवस्था में मिला था। इस घटना को महीना भर नहीं हुआ और आज एक तेंदुआ मरी अवस्था में मिलने से वनविभाग में चिंता फैल गयी है। तहसील के अनेक गांव जंगल से घिरे है इसकी वजह से अक्सर हिंसक जानवर गांव के आस पास तक आ जाते है। ग्रीष्मकाल के दिनों में तो अनेक लोगों को अपनी जान गंवानी पडी थी। व्याहाड बुज कापसी परिसर के कापसी गांव के 10 वर्षीय बालक पर तेंदुएं ने हमला कर उसकी जान ले ली थी। यह घटना ताजी रहते हुए आज सुबह व्याहाड खुर्द उपवनपरी क्षेत्र के शिरशि बीट कक्ष क्रं. 1534 बस स्टैंड की ओर जाने वाले पैदल रास्ता जंगल से घिरा होने से बाघ, तेंदुएं, भालू जैसे हिंसक जानवर अक्सर दिखाई देते है। इस मामले की जांच सावली वनपरिक्षेत्र अधिकारी कामडी के मार्गदर्शन में उपवनपरी क्षेत्र अधिकारी बुराडे और वनकर्मचारी कर रहे है।