liquor shops will open in Delhi for one hour more
File Photo

    चंद्रपुर. राज्य सरकार ने चंद्रपुर जिले में शराबबंदी उठाने का निर्णय लिया है. शीघ्र ही इस संदर्भ में अधिसूचना भी जारी होगी. परंतु अधिसूचना जारी होने से पूर्व ही शराब विक्रेताओं में शराब विक्री को लेकर हलचल मच गई है. जो पहले ही शराब विक्री के इस व्यवसाय में थे और उन्होने अपने शराब की दुकानों और बीयरबारों को होटल का स्वरूप दे दिया था अब वे शराब के व्यवसाय को नए सिरे से शुरू कराने के लिए उत्सुक नजर आ रहे है.

    लायसन्स के लिए उनकी दौड़धूप शुरू हो गई है. सरकार ने शराबबंदी हटाने का तो निर्णय लिया है परंतु समिति ने जो सुझाव सरकार को दिए है उन सुझाव के अनुसार शराब विक्री शुरू होती है तो इसका शराब विक्रेताओं पर क्या असर होगा यह देखने होगा. शराब विक्रेता अधिसूचना को लेकर उत्सुकता है. 

    अधिसूचना के उपरांत जिला समिति गठित होगी जो कि नये लायसन्स देने का निर्णय लेगी. इस समिति में अध्यक्ष जिलाधीश, सदस्य सचिव उत्पादन शुल्क विभाग के अधीक्षक, जि.प. मुख्य कार्यकारी अधिकार, पुलिस अधीक्षक होगे. लायसन्स किसे दिया जाए किसे नहीं इसका निर्णय यह समिति करेंगी. 

    वर्ष 2015 के पूर्व जब चंद्रपुर जिले में शराब विक्री होती थी उस समय चंद्रपुर जिले में 109 देशी शराब दुकानें, 24 वाईन शॉप, 320 वाईन बार और 10 बीयर शॉपी शुरू थी. इनमें से अधिकांश ने शराबबंदी के बाद होटल का स्वरूप दिया तो किसने दुकानों के कमरे बेच दिए. किसी ने अपना लायसन्स अन्यंत्र जिले में स्थानांतरण किया. अपने लायसन्स अन्य को बेच दिए.

    शराबबंदी हटाने के बाद जिले में शराब की विक्री का स्वरूप किस तरह का होगा और अवैध शराब विक्री पर किस रूप में अंकुश लग पाएगा यह तो अब आनेवाला समय ही बता पाएगा. फिलहाल तो लम्बे अरसे से शराबबंदी उठने के लिए एड़ीचोटी का जोर लगा रहे शराब विक्रेताओं में काफी उत्साह नजर आ रहा है. चोरी छिपे शराब पीनेवाले भी अब खुलकर शराब पीने की आजादी मिलने से उत्साहित है.