महाज्योती संस्था शुरू कर 50 करोड का निधि देंगे – पालकमंत्री वडेट्टीवार

  • राष्ट्रीय ओबीसी महासंघ के शिष्टमंडल को आश्वासन

चंद्रपुर. अन्य पिछडा वर्ग, वि.जा.भ.ज. व विशेष पिछडे प्रवर्ग के युवक व युवतीओं को प्रशिक्षण व विविध उपक्रम चलाने हेतु स्थापित की गयी महाज्योती संस्था जल्द से जल्द कार्यान्वित कर जनसंख्या के आधार पर निधि उपलब्ध कराने की मांग राष्ट्रीय ओबीसी महासंघ ने बहुजन कल्याण मंत्री तथा पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार समक्ष की है. इस संदर्भ में पालकमंत्री वडेट्टीवार ने महाज्योती संस्था जल्द ही शुरू कर 50 करोड रूपये की पहली किश्त देने का आश्वासन दिया है. 

राज्य सरकार ने अन्य पिछडा वर्ग, घुमंतक व विशेष पिछडे प्रवर्ग के युवक व युवतीओं के लिए विविध उपक्रम चलाने हेतु बार्टी व सारर्थी के तर्ज पर महाज्योती यह स्वायत्त संस्था 6 जुलाई 2019 को स्थापित की गयी. यह संस्था स्थापित करने 1 वर्ष लौटने के बावजुद अब तक शुरू नही की गयी. इस संदर्भ में राष्ट्रीय ओबीसी महासंघ के महासचिव सचिन राजुरकर, कृषी उपज बाजार समिति के सभापती दिनेश चोखारे, ओबीसी कर्मचारी संगठन के अध्यक्ष शाम लेडे, दीपक वाढई, रामराव हरडे, मनोज गौरकार, राजु हिवंज, सावली पंचायत समिति सभापती विजय कोरेवार, उमाकांत धांडे, कालिदास येरगुडे, घोडमारे आदि शिष्टमंडल ने मंत्री विजय वडेट्टीवार की भेट लेकर महाज्योती को शुरूवात कर जनसंख्या के आधार पर निधी देने की मांग की है.

इस समय वडेट्टीवार ने महाज्योती संस्था को जल्द से जल्द शुरू किए जाने तथा संस्था का 50 करोड रूपये का पहली किश्त देने का आश्वासन शिष्टमंडल को दिया है. इसलिए अब महाज्योती व्दारा ओबीसी विद्यार्थियों को युपीएससी व एमपीएससी स्पर्धा परिक्षा तथा उनके लिए विविध उपक्रम चलाए जायेंगे.