tiger
File Photo

  • ताडोबा अंधार व्याघ्र प्रकल्प के मामुडकुटी की घटना  

चिमूर. ताडोबा अंधारी व्याघ्र प्रकल्प के मामूडकुटी परिसर में फायरलाईन के कार्यपर नियुक्त महिला पर गुरूवार की सुबह बाघ ने अचानक हमला कर उसे मौत के घाट उतारा. मृतक महीला का नाम विद्या वाघाडे है. वर्ष 2020 की तहसील की यह छटवी घटना है. बेटी की सगाई के एक दिन पहले ही बाघ के हमले में विद्या वाघाडे की मृत्यु होने से परिवार पर शोक फैल गया है. 

चंद्रपुर जिले में दिनोंदिन मानव व वन्यजीव संघर्ष लगातार बढ रहा है. बामनगांव निवासी मृतक विद्या वाघाडे 40 यह ताडोबा अंधारी बाघ प्रकल्प के मामूडकुटी परिसर में फायरलाईन का घास काटने कार्य करती थी. हालाकि वह कंत्राटी तौर पर कार्यरत थी. गुरूवार की सुबह विद्या घास काटने जंगल गई थी. उसी समय अचानक बाघ ने महीला पर हमला कर दिया. जिसमें महीला की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई. 

घटना की जानकारी मिलते ही वनविभाग के अधिकारी व कर्मचारी घटनास्थल रवाना हुए. बाघ के हमले में मृतक महीला के परिवार को सहायता की मांग ग्रामीणों ने की है. 

बेटी के सगाई के पहले दिन मां की मृत्यु 

बामनगांव निवासी विद्या वाघाडे को 2 बेटीयां है. जिनमें से बडी बेटी की शादी तय हुई थी. शुक्रवार 18 दिसम्बर को सगाई की तारिक तय होने से परिवार में आनंद का वातावरण था. इसी बीच जंगल में घास काटते समय बाघ ने विद्या वाघाडे पर हमला कर उसे मौत के घाट उतार दिया. 

जोर पकड रही बाघ का बंदोबस्त करने की मांग

महीला पर बाघ का हमला की जानकारी बामनगांव में फैलते ही बामनगांव निवासी ग्रामस्थ जंगल की ओर भागे. उन्होने इसकी जानकारी वनविभाग को दी. वनविभाग के अधिकारी व कर्मीयों ने घटनास्थल पहुचकर घटना का पंचनामा करने के पश्चात ग्रामीणों ने मृतक के परिवार को सहायता करने तथा बाघ का जल्द से जल्द बंदोबस्त करने की मांग की है.