Citizens troubled by bad settlements, mud, dirt in division 3

    चंद्रपुर. सरकार द्वारा बीत 2 वर्षों से राज्य के सभी विभागों के ठेकेदारों के बिल भुगतान के लिए निधि का बंदोबस्त करने में टालमटोल किया जा रहा है. बिलों के भुगतान में देरी को रोके अन्यथा आंदोलन करने की चेतावनी अधीक्षक अभियंता को निवेदन द्वारा बिल्डर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप कोठारी ने दी है.

    ज्ञापन में कहा गया है कि मार्च 2020 में अचानक लाकडाउन और कोरोना की परिस्थिति निर्माण हुई थी. इस समय राज्य के ठेकेदारों के बिल सरकार ने नहीं दिए, लेकिन सरकार की ओर से अब तक देयक देने के बारे में किसी भी तरह की कोई कार्रवाई नजर नहीं आ रही है.

    केवल 2 प्रश राशि का भुगतान

    इस वर्ष मार्च में ठेकेदारों को उनके बिल का केवल 2 प्रश राशि का भुगतान किया गया है. ठेकेदारों का परिवार और उन पर निर्भर मजदूर एवं अन्य घटकों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है. कोरोना का कारण दर्शाकर जानबूझकर राज्य के ठेकेदारों पर अन्याय किए जाने का आरोप किया गया है. दुर्भाग्य से राज्य में कोरोना का संक्रमण बढ़ने से आंदोलन, बैठक, मंत्रालय में एवं कार्यालय में आने से रोक लगा दी गई है. इन नियमों का आधार लेकर ठेकेदारों को परेशान किया जा रहा है.

    सरकार की यह नीति सरासर गलत है. सरकार सभी विभागों के ठेकेदारों का बिल भुगतान के लिए तत्काल निधि वितरित करने की मांग की गई. इस समय अध्यक्ष संदीप कोठारी, रामपाल सिंह, विनोद मनियार, जी.टी. सिंह, विलास सोनटक्के, उत्तम पाटिल, सुदीप रोडे, क्रिष्णा सरकार, श्रीकांत भोयर, कौस्तुभ खांडरे, विनोद नले, राहुल रच्चावार, रिजवान अली आदि उपस्थित थे.