Fruit seller beaten to death for non-payment of borrowings

  • पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुला हत्या का राज

चंद्रपुर. नागभीड़ पुलिस स्टेशन अंतर्गत बाम्हणी गांव में एक वृध्दा की जहर पीकर आत्महत्या मामले में उस समय सनसनीखेज मोड़ आया जब मृतका की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला की मृतका की मौत जहर से नहीं बल्कि गला घोटकर हुई है. पुलिस तुरंत हरकत में आयी और जांच पड़ताल कर महिला के हत्या के आरोप में उसके सगे बेटे को गिरफ्तार किया है. हत्यारे बेटे ने स्वीकार किया कि उसने ही संपत्ति के लालच में अपनी मां का गला घोटकर हत्या की है. पुलिस ने हत्यारे पुत्र दिवाकर रतिराम गजभे 45 को गिरफ्तार कर लिया है.

ब्राम्हणी निवासी रत्नमाला गजभे की लाश खेत में पायी गई थी. यह घटना 9 नवंबर को गई थी. पुलिस को अपने बयान में उसके पुत्र दिवाकर ने बताया कि उसकी मां ने जहर पीकर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी. शव की पोस्टमार्टम रिपेार्ट पुलिस को प्राप्त हुई तो उसमें खुलासा हुआ कि रत्नमाला गजभे की मौत आत्महत्या ना होकर हत्या है.

मृतक के सिर पर घाव के निशान और उसका गला घोटे जाने का रिपोर्ट में स्पष्ट होने पर पुलिस ने दिवाकर को जांच के लिए 3 दिसंबर को हिरासत में लिया और उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसने संपत्ति के लालच में अपनी मां की हत्या किए जाने का गुनाह कबूल लिया.  उसने पुलिस को बताया कि वह मां पर दबाव डाल रहा था कि सारी संपत्ति उसके नाम कर दें. परतं उसकी अपने तीनों पुत्रों को समान रूप से संपत्ति का बंटवारा करना चाहती थी जिसके कारण उसने खेत में पहुंची मां का पीछा कर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी और आत्महत्या का स्वरूप दे दिया.

पुलिस ने उसे हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया. उक्त जांच पुलिस निरीक्षक मडामे के मार्गदर्शन में पीएसआय सोनकर कररहे है.