mp-dhanorkar, saves lives of Corona infected by donating plasma

कोरोना वायरस का संक्रमण दिनों दिन तेजी से बढ रहा है जिससे जिले भर में बाधितों की संख्या बढ रही है और सितंबर अंत तक 10 हजार के पार पहुंच जाएगी।

  • कोरोना से स्वस्थ हुये रोगियों को प्लाज्मा दान की अपील

चंद्रपुर. कोरोना वायरस का संक्रमण दिनों दिन तेजी से बढ रहा है जिससे जिले भर में बाधितों की संख्या बढ रही है और सितंबर अंत तक 10 हजार के पार पहुंच जाएगी। कोरोना पर अब तक कोई वैक्सीन नहीं बन सकी है। प्लाज्मा थेरपी से बाधितों का उपचार किया जा सकता है। इसलिए कोरोना बाधितों की जान बचाने के लिए आगे आकर प्लाज्मा दान की अपील सांसद बालु धानोरकर ने की है।

कोरोना बाधितों के लिए प्लाज्मा थेरेपी वरदान साबित हो रही है। इस थेरेपी में कोरोना से स्वस्थ हुए रोगियों के रक्त से निकाला प्लाज्मा कोविड के खिलाफ एंटीबाडी दूसरे रोगी को दिया जाता है। इस थेरेपी से कोरोना संक्रमितों को इससे छुटकारा दिलाने में कुछ प्रमाण में सही संभव है। किंतु प्लाज्मा दान के लिए कोरोना से स्वस्थ हुए लोग सामने नहीं आ रहे है इसके चलते गंभीर रोगियों का उपचार करने चिकित्सकों को समस्या आ रही है। एक प्लाज्मा दान से दो बाधित ठीक हो सकते है। इसलिए अधिक से अधिक प्लाज्मा दान करना आवश्यक है। कुछ कोरोना से स्वस्थ हुए रोगियों ने जिला अस्पताल में प्लाज्मा दान किया है।

राज्य सरकार ने कोरोना उपचार के लिए हास्पिटलों को प्लाज्मा थेरेपी उपचार पध्दति अपनाने  के आदेश दिये है। इसलिए जिला स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी शुरु की है। जिले के प्लाज्मा डोनर से प्लाज्मा दान कर अपने कर्तव्य का पालन कर कोरोना बाधितों के प्राण बचाने की अपील सांसद बालु धानोरकर ने की है।

जनजागृति की आवश्यकता
कोरोना संक्रमण पर उपचार के लिए फिलहाल कोई वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। वैज्ञानिक दिन रात वैक्सीन बनाने में जुटे है। किंतु यह कोरोना बाधितों तक कब पहुंचेगी यह स्पष्ट तौर पर नहीं कहा जा सकता है। इसलिए कोरोना के गंभीर रोगियों को ठीक करने प्लाज्मा थेरेपी कारागार उपाय है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग प्रयासरत है। बडे पैमाने पर जनजागृति कर प्लाज्मा डोनर की संख्या बढाने के आदेश सांसद बालु धानोरकर ने दिये है।