बिजली बिल माफ करने कराया मुंडन

बल्लारपुर. कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए 22 मार्च से प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन की घोषणा की थी. इसके बाद लगातार करीब 3 महीनों तक लॉकडाउन बढ़ाया गया. इस दौरान सभी काम धंधे, व्यापारिक प्रतिष्ठान, उद्योग आदि ठप पड़ गए थे. किंतु अब बिजली विभाग ने 3 महीने का बिजली बिल एकसाथ भेज दिया है. जिससे जिन लोगों को 1-2 हजार रुपये बिल आता था, उन्हें एकमुश्त तिगुना से चौगुना का बिल आ गया है. लॉकडाउन काल का बिजली बिल माफ करने की मांग के लिए उलगुलान संगठन के पदाधिकारियों ने नगर पालिका के सामने मुंडन आंदोलन किया. पश्चात तहसीलदार के माध्यम से मांग का निवेदन सरकार को भेजा गया.

काम बंद होने से आर्थिक संकट
संगठन ने कहा कि लॉकडाउन के समय काम बंद होने से लोग आर्थिक संकट में आ गए हैं. रोजगार नहीं होने से लोगों को खाने तक के लाले पड़े थे. ऐसे में 3 महीने का बिजली बिल माफ किया जाना चाहिए. आंदोलन करने वालों में उलगुलान संगठन के संस्थापक अध्यक्ष राजू झोड़े, एस.जी. मुरसे, वी.वी. कांबले, मारोती सालुरकर, दत्तात्रय घिवे, रमेश गुप्ता, बी.एस. खोब्रागड़े, शरद वानखेड़े, मनोज बेले, अनरुद्ध पाटिल, प्रितम पाटिल आदि शामिल थे.