मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी के प्रथम चरण में, 21.53 लाख लोगों की कोरोना जांच

  • 254 निकले कोरोना पाजिटिव

चंद्रपुर. कोरोना संक्रमण को नियंत्रण में रखने के दृष्टि से राज्य सरकार द्वारा चलायी जा रही मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी मुहिम के प्रथम चरण में जिले की 22.46 लाख लोगों में से 21,53,473 लोगों की जांच कर 97.19 प्र.श. काम पूरा किया गया है. इस जांच में 254 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले है.

कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण पाने के लिए मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे की संकल्पना से राज्य में मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी मुहिम चलायी जा रही है. इस मुहिम की शुरूआत पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार ने 15 सितंबर को की थी. डेढ महीने में प्रथम चरण का काम लगभग पूरा हो चुका है.

2,209 स्वास्थ्य टीमें पहुंची 5.32 लाख घरों तक

इस मुहिम के तहत आशा स्वयंसेविका, वैद्यकीय सहायक गट प्रवर्तक, शिक्षक, आंगनवाड़ी सेविका, सभी ग्रामपंचायतों का सहयोग रहा है. जिले 5 लाख 32 हजार 901 घरों में से 5 लाख 17 हजार 950 घरों तक पहुंचकर स्वास्थ्य सर्वेक्षण किया गया. इसके लिए जिले के भद्रावती, वरोरा, ब्रम्हपुरी, मूल, बल्लारपुर एवं राजुरा शहरी क्षेत्र में 117 स्वास्थ्य टीमें, ग्रामीण क्षेत्र में 1 हजार 981 टीमें जबकि चंद्रपुर महानगर पालिका क्षेत्र में 111 टीम इस तरह से 2 हजार 209 स्वास्थ्य टीमें कार्यरत है.

कोरोना की श्रृंखला तोड़ने में सफल रही मुहिम

प्रथम चरण के सर्वेक्षण में सारी, आईएलआई के 2 हजार 275 संदिग्ध मरीज मिले. सतर्कता के रूप में उनके साथ कुल 2  हजार 731  नागरिकों की कोरोना जांच की गई तो इसमें 254  लोग कोरोना बाधित पाये गए. बाधितों को समय उपचार किए जाने से कोरोना की श्रृंखला तोडने एवं मृत्यु दर कम करने में  मुहिम कारगर साबित होने का सरकार ने दावा किया है.

दूसरे चरण में घटी संक्रमितों की संख्या

अब इस मुहिम के तहत दूसरे चरण के सर्वेक्षण काम भी तेजी से किया जा रहा है. इसमें अब तक 8 लाख 56 हजार 336  नागरिकों की जांच की गई. 620 संदिग्धों में से 91 कोरोना बाधित पाये गए. सर्वे में पाये गए कोरोना बाधितों को समय पर उपचार लाभ प्राप्त हुआ है.

अधिकांश मामलों में मरीज अंतिम क्षणों में अस्पताल में भरती होने से उस पर उपचार होना चाहिए उतना समय नहीं रहता और ऐसे में उसकी मृत्यु का खतरा ज्यादा रहता है. इसलिए नागरिकों को अपनी बीमारी न छिपाते हुए स्वास्थ्य पथक का सहयोग करने और कोरोना का संभावित खतरा टालने की अपील जिलाधिकारी अजय गुल्हाने ने की है.