Coal India started special auction
File Photo

चंद्रपुर. वेकोलि खदान एकोना से जीएमआर एवं साईं वर्धा बिजली कंपनियों को होने वाली कोयले की ढुलाई वरोरा शहर से होकर नहीं करते हुए वानोजा गांव से एमआईडीसी मार्ग से करने की मांग है. इस विषय को लेकर शनिवार को वरोरा के विश्रामगृह में सांसद बालू धानोरकर ने बैठक ली. इसमें वरोरा उपविभागीय अधिकारी शिंदे, जी.एम.आर. कंपनी के विनोद पुसदकर, साईं वर्धा पावर कंपनी के प्लांट मैनेजर जोशी, वेकोलि एकोना के अहमद उपस्थित थे. संसाद धानोरकर ने कहा कि कोयले की ढुलाई के लिए 7 दिनों में वैकल्पिक रास्ते का निर्णय ले. यदि इस संबंध में जल्द निर्णय नहीं लिया गया, तो कोयले की ढुलाई वरोरा शहर से नहीं होने दी जाएगी.

दुर्घटनाओं की आशंका
पिछले कुछ समय से वेकोलि खदान एकोना से जीएमआर एवं साईं वर्धा बिजली कंपनियों को होने वाली कोयले की ढुलाई वरोरा शहर से हो रही है. इससे बड़े पैमाने पर दुर्घटनाएं होकर जीवित हानि और लोग विकलांग हुए हैं. ऐसे में जान जोखिम में डालकर लोगों को आवागमन करना पड़ रहा है. कोयले के धूल प्रदूषण से भी नागरिक परेशान है.