अब जिले में 7 जगहों पर प्रतिबंधित क्षेत्र

  • जिले में पाजिटिव की संख्या कुल 12

चंद्रपुर. जिले में गुरूवार 21 मई की सुबह कोरोना पाजिटिव में 9 लोगों की बढोत्तरी होने से जिले में खलबली मच गयी. अब जिले के अतिरक्ति 5 क्षेत्र को प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित किया गया. ऐसे कुल 7 प्रतिबंधित क्षेत्र हुए है. सभी पाजिटिव मरिजों का स्वास्थ जैसे थे स्थिति में है. मरिजों के संदर्भ में गलत जानकारी व प्रशासन की बदनामी करनेवाले पोस्ट वायरल करने पर अपराध दर्ज करने की सुचना पुलिस को दी गयी है.

डीएचओ डा. राजकुमार गहलोत के मुताबिक, जिले में अबतक 612 व्यक्ति की जांच की गयी. जिनमें से 513 नागरिकों के रिपोर्ट निगेटिव आए है. 87 नागरिकों के स्वैब परिणाम प्रतक्षिा में है.

जिले में पहले 3 पाजिटिव थे. किंतु अब 9 नागरिकों की रिपोर्ट पाजिटिव आयी. इन सभी को इस्टीटयुशनल कारेन्टईन में रखा गया है. पहले बिनबा गेट व दुर्गापुर को प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित किया था. किंतु जिला परिषद मुख्य कार्यपालन अधिकारी राहुल कर्डिले ने 5 प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित किया है. नए प्रतिबंधित क्षेत्र में बल्लारपुर तहसील के मौजा विसापुर गाव, पोंभुर्णा तहसील का मौजा जाम तुकुम, सींदेवाही तहसील का मौजा विरव्हा, मुल तहसील का मौजा चिरोली, राजुरा तहसील का मौजा लक्कडकोट आदि गांव का समावेश है. परिसर के पाजिटिव नागरिकों के संपर्क में आनेवाले नागरिकों को स्वयं स्वास्थ विभाग की ओर नाम देने का आवाहन किया है. दौरान जिला शल्यचिकत्सिक निवृत्ती राठोड के मुताबिक, 2 मई को पाजिटिव पाया गया क्रष्णि नगर का मरिज फिलहाल नागपुर में कोविड के साथट्ठसाथ अन्य बिमारी के चलते इलाज ले रहा है. अब वह कोरोना मुक्त हुआ है. संबंधित मरिज के दोनो टेस्ट निगेटिव आए है.

जिले में संक्रमण बिमारी प्रतिबंधक कानुन लागु होने के बावजुद मरिजों के संदर्भ में गलत जानकारी देनेवाले तथा प्रशासन को बदनाम करनेवाला संदेश तथा ऑडियों, विडीओ पोस्ट करने पर सक्त कार्रवाई करने के नर्दिेश जिला प्रशासन पुलिस विभाग के सायबर सेल को दिए है.

चंद्रपुर शहर में बाहर से आनेवाले नागरिकों को शकुंतला लान में स्वयं के नामों को दर्ज करने व प्राथमिक स्वास्थ जांच करने का आवाहन किया है. साथ ही अन्य तहसील से आनेवाले नागरिकों ने बस स्टैंड परिसर व तहसील कार्यालय में नाम दर्ज करने का आवाहन गांव की यंत्रणा व आशा वर्कर को किया है.