फॉरेंसिक रिपोर्ट का ई-मेल लगा पुलिस के हाथ

  • सप्ताह भर में खुल जाएगा डा.शीतल मृत्यु का राज
  • आज लेंगे आमटे परिवार का बयान

वरोरा. समाजसेवी स्व. बाबा आमटे की पोती, आनंदवन महारोगी सेवा समिति की सीईओ डा. शीतल आमटे-करजगी मामले की जांच पड़ताल कर रहे वरोरा के उपविभागीय पुलिस अधिकारी डा. निलेश पांडे ने बताया कि आज मंगलवार की देर शाम मुंबई से फॉरन्सिक रिपोर्ट का ई-मेल पुलिस विभाग को प्राप्त हुआ है. इस ई-मेल में दर्ज जानकारी के संदर्भ में जिला पुलिस अधीक्षक अरविंद सालवे के मार्गदर्शन में गहन मंथन बुधवार होगा. इसके बाद ही फॉरन्सिक रिपोर्ट क्या कहती है यह वें बता पायेगे. उन्होने इतना कहा कि अगले सप्ताह भर में डा.शीतल आमटे करजगी मृत्यु मामले की पूरी जांच पुलिस पूर्ण कर लेंगी.

डा. पांडे ने फिर कहा कि कोरोना की वजह से आमटे परिवार का बयान लिया जाना संभव नहीं हो पाया था. आज बुधवार को वें आमटे परिवार के सदस्यों का भी बयान दर्ज करा लेगे.  उन्होने इतना कहा कि अब तक जितने भी लोगों के बयान लिए गए है उनमे से किसी ने भी किसी पर भी कोई आरोप नहीं लगाया है. डा. शीतल के बारे में जिन्हें जितनी जानकारी थी वें पुलिस को दे चुके है. बयानों में अब तक कोई भी संदेहास्पद बात सामने नहीं आयी है.

उल्लेखनीय है कि 30 नवंबर को आनंदवन स्थित अपने कमरे में गंभीर अवस्था में मिली डा.शीतल आमटे-करजगी को शीघ्र नजदीक के अस्पताल पहुंचाया गया था जहां उसे चिकित्सकों न मृत घोषित किया था.पुलिस ने सूचना मिलने पर शीघ्र पहुंचकर घटनास्थल को सील कर दिया था और नागपुर से बुलाई फॉरन्सिक टीम ने पूरी गहराई से इसकी जांच की थी. साथ ही उनका लैपटॉप, टैब, तीन मोबाईल, जो इंजेक्शन उन्होने लिया था उसकी खाली सीरिज, दवाईयों के सैम्पल आदि सभी की जांच के लिए प्रयोगशाला में भेजा गया था जिसकी रिपोर्ट 16 वें दिन ई-मेल के माध्यम से पुलिस को प्राप्त हुई है.