कोरोना के कारण गांव लौट आये लोगों को रोजगार दिलाये – वडेट्टीवार

चंद्रपुर. पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार ने यहां कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते मुंबई-पुणे ही नहीं देश विदेश से रोजगार एवं नौकरी छोड़कर अनेक युवक, अनेक परिवार अपने गांव, शहर लौट आये है ऐसे लोगों को रोजगार, स्वरोजगार, उद्योग इन घटकों से संबंधित जिलास्तरीय यंत्रणा अवसर दें, सभी स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध हो, स्टार्टअप जैसे नये छोटे, बड़े उद्योग के लिए कर्ज आपूर्ति, जगह की उपलब्धता, आदि सुविधा दी जाए, 

उन्होने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते बड़े पैमाने पर नागरिक अलग अलग शहर से वापस आये है. इसमें कामगार, व्यवसायी, उद्योजक एवं बड़े शहरों में स्वयं का उद्योग वाले लोग भी है इसलिए जिला प्रशासन की सभी यंत्रणा बेरोजगारों को स्थानीय रोजगार उपलब्ध करते समय मांग अनुसार सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सकारात्मकता के साथ आगे आये.

जिलाधिकारी कार्यालय के नियोजन भवन में उद्योग मित्र समिति की सभा ली गई. वडेट्टीवार ने उद्योग मित्र समिति की बैठक मार्फत जिले के प्रत्येक उद्योग समूह में उपलब्ध जगह, रोजगार की उपलब्धता इसकी समीक्षा की. 

बैठक में जिला परिषद अध्यक्षा संध्या गुरनुले, महापौर राखी कंचर्लावार, सांसद सुरेश उर्फ बालू धानोरकर, विधायक सुभाष धोटे, विधा. प्रतिभा धानोरकर, जिलाधिकारी डा. कुणाल खेमनार, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल कर्डिले, महानगर पालिका आयुक्त राजेश मोहिते सहित सभी विभाग प्रमुख साथ ही जिला उद्योग केन्द्र, जिला कौशल्य विकास विभाग एवं जिलास्तर पर प्रशिक्षण, कर्जआपूर्तिकरनेवाली संस्था, शिखर बैंक के प्रतिनिधि, जिले के सभी उद्योग समूह के प्रतिनिधि उपस्थित थे.

कोरोना संक्रमण के कारण बड़े पैमाने पर उद्योग समूहों को मानवसंसाधन चाहिए, इन उद्योग समूहों में मानवसंसाधन भरती करते समय स्थानीय सुशिक्षित बेरोजगारों एवं अन्य स्थानों से अपना रोजगार छोडकर आये कुशल कामगारों को भी अवसर मिलना चाहिए.इसके साथ साथ जिन्होने अपने छोटे-बड़े उद्योग बंद कर वापस अपने शहर आये है इन सभी को स्थानीय स्तर पर नये सिरे से कुछ उद्योग व्यवसाय करना हो तो उन्हें बड़े पैमाने पर कर्ज आपूर्ति की जाए इस ओर भी उन्होने ध्यान केन्द्रित किया. इस समय उन्होने जिले में विभिन्न आस्थापना पर वाले कर्मचारियों की स्थायी एवं अस्थायी पदों की जानकारी ली. साथ ही अलग अलग आस्थापना के बारे में जानकारी ली. वर्तमान में जिले में शुरू उद्योगों में कितने प्रमाण में उत्पादन शुरू है उन्हें कितने मानवसंसाधन की आवश्यकता है, इस संबंधित आंकडे जिला उद्योग केन्द्र को प्रस्तुत करने के निर्देश उन्होने दिए. जिला उद्योग केन्द्र की ओर से महाप्रबंधक स्वप्नील राठोड ने जानकारी प्रस्तुत की.

इस समय जिला कौशल्य विकास विभाग मार्फत जिले में उद्योजकों का पंजीयन, महाजॉब पोर्टल पर अवसर, ऑनलाईन रोजगार सम्मेलन के संदर्भ में भैयासाहब येरमे ने जानकारी दी. जिला ग्रामीण विकास यंत्रणा मार्फत कोरोना संक्रमण काल में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल कर्डिले के मार्गदर्शन में बड़े पैमाने पर रोजगार संबंधित वअसर एवं जिले में आनेवाले बेरोजगारों के नाम दर्ज करना शुरू है. मुंबई-पुणे शहर से बड़े पैमाने पर कामगार वापस लौटे है, एमआयडीसी में बडे पैमाने पर रोजगार के अवसर उपलब्ध है इसका अवसर स्थानीय सुशिक्षित बेरोजगारों मिले ऐसे निर्देश उन्होने दिए. जिला ग्रामीण यंत्रणा के माध्यम से शुरू उपाययोजना की जानकारी भी उन्होने ली.

बैठक में सांसद धानोरकर ने जिले भर से आये बेरोजगारों को स्थानीय स्तर पर बड़े पैमाने पर रोजगार उपलब्ध हो इसके लिए सभी यंत्रणा को पहल करने का आवाहन किया. कुछ नये उद्योग व्यवसाय शुरू हो सकते है इसलिए विदेश से आये नागरिकों को संपर्क करने कआवाहन किया. विधायक सुभाष धोटे ने बेरोजगारों को रोजगार मिले इसके लिए व्यापक रूप से अभियान चलाने पर जोर दिया. पालकमंत्री ने वनविभाग, जिला खनिज विभाग एवं अन्य विभागों की समीक्षा की.