Silence at Washim bus stand due to lack of ST bus ferries

  • जिले से 25 अंतरराज्य बसेस शुरू

चंद्रपुर. लॉकडाऊन के बाद एस.टी. महामंडल द्वारा शुरू किए गए अंतर्राज्यीय परिवहन सेवा को  बड़े पैमाने पर प्रतिसाद मिला है. लम्बी दूरी की ट्रेनें और पैसेंजर ट्रेन बंद होने से एस.टी. के उत्पन्न में वृध्दि हई है. अब तक घाटे में चल रहे एसटी महामंडल को इससे कुछ हद तक राहत मिली है.

लॉकडाऊन के बाद शुरूआत के समय जिला अंतर्गत परिवहन शुरू किया गया. इसके उपरांत अंतरजिला परिवहन शुरू किया गया है. प्रारंभ के समय में यात्रियों का काफी कम प्रतिसाद मिला परंतु दीपावली के समय कोरोना के कारण एसटी से दूर हो गए यात्रियों ने फिर से बसों में यात्रा को तरजीह दी ओर दीपावली के पूर्व ही अंतर्राज्यीय परिवहन सेवा शरू की गई. इसका महामंडल को अच्छा प्रतिसाद मिला है.

चंद्रपुर-आदिलाबाद, चंद्रपुर-हैद्राबाद, चंद्रपुर-आसिफाबाद, चंद्रपुर-निजामाबाद, वरोरा-आदिलाबाद, राजुरा-कागजनगर, राजुरा-आसिफाबाद सहित तेलंगाना से आदिलाबाद चंद्रपुर आसिफाबाद, चंद्रपुर आदिलबाद, राजुरा-कागजनगर-राजुरा बस फेरिया शुरू है. चंद्रपुर, राजुरा और वरोरा आगार से बस सेवा शुरू की गई है. चंद्रपुर आगार से प्रतिदिन 10 फेरियां की जा रही है. बसेस पूर्णक्षमता से शुरू होने से महामंडल को इसका आर्थिक लाभ मिला है. वर्तमान में जिले से 25 अंतर्राज्यीय बसेस शुरू है. इसमें महाराष्ट्र राज्य की बसेस एवं अन्य राज्य की 10 बसेस का समावेश है.

राजुरा, गडचांदूर, जिवती, गोंडपिपरी तहसील के समीपस्थ ही पडोसी राज्य तेलंगाना की सीमा होने से यहां से यात्रियों का नियमित रूप से आवागमन होता है. दोनों राज्यों के महामंडलों द्वारा बसेस चलायी जा रही है.