1800 employees of Rapani did not receive salary for 2 months

  • लॉकडाऊन के कारण एसटी घाटे में

चंद्रपुर. कोरोना महामारी के कारण लॉकडाऊन लगाये जाने से सभी उद्योग व्यवसाय पर इसका प्रतिकूल परिणाम हुआ है। इससे राज्य परिवहन निगम महामंडल भी अछूता नहीं रहा है। लॉकडाऊन के कारण अंतरजिला और जिला बाहय बस फेरियां बंद होने से निगम को काफी आर्थिक घाटे में है। पर्याप्त आय के अभाव में पिछले दो माह से एसटी कर्मियों को वेतन नहीं मिला है। फलस्वरूप कर्मचारियों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है।

आर्थिक नुकसान के कारण प्राथमिक स्तर पर बस में माल ढुलाई शुरू की गई है। इसके उपरांत 50 प्रश तत्व पर बस सेवा शुरू की गई परंतु जितने प्रमाण में यात्री चाहिए थे उतने प्रमाण में यात्री नहीं मिलने से घाटा उठाकर परिवहन सेवा शुरू रखनी पड़ी। अब पूर्ण क्षमता से यात्री परिवहन शुरू किए जाने के बाद भी महामंडल घाटे से नहीं उभर पा रहा है। इसके चलते कर्मियों का वेतन बकाया है। जुलाई और अगस्त माह का वेतन अब तक नहीं मिल पाया है जबकि सितंबर माह समाप्त हो रहा है। इसके बावजूद पिछले तीन माह से एसटी कर्मचारी कोरोना का जोखिम उठाकर अपनी सेवा देते हुए नजर आ रहे है।