murder

  • 8 दिनों के अंतराल में माजरी में दूसरी घटना
  • आरोपियों को 5 दिनों का पुलिस रिमांड

माजरी. माजरी के एकता नगर में ससुर और साले ने मिलकर दामाद के सिर पर कुल्हाडी और लोहे की सरिया से हमला कर हत्या कर दी। यह घटना रविवार की शाम 7.30 बजे भद्रावती तहसील के माजरी में घटी। दोनों आरोपियों ने थाने में आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस ने दोनों को न्यायालय में पेश किया जहां से 3 अक्टूबर तक के लिए पुलिस रिमांड में भेज दिया है। मृतक का नाम संदीप हरिदास साबले (30) है। सप्ताह भर पूर्व अतिक्रमित जगह के विवाद में एक युवक की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी।

पुलिस सूत्रों के अनुसार एकतानगर शिवमंदिर रोड माजरी कालरी निवासी संदीप साबले ने कुछ वर्षो पूर्व माजरी निवासी अमृतलाल केवट की पुत्री ज्योति के साथ प्रेम विवाह किया था। इस बीच संदीप को एक पुत्र और एक पुत्री हुई थी। लगभग एक वर्ष उसकी पत्नी ज्योति मायके में थी उसी समय उसके पुत्र की नाले में डूबने से मृत्यु हो गई थी। तब से दोनों के बीच झगडे शुरु थे। संदीप अक्सर अपनी पत्नी के साथ मारपीट करता था इसलिए ज्योति अपनी पुत्री के साथ मायके में रहती थी। संदीप अक्सर शराब के नशे में ससुराल जाकर झगडा फसाद करता था। 27 सितंबर की शाम 7.30 बजे संदीप की पत्नी रेलवे कालोनी में नौकरानी के काम से लौट रही थी कि संदीप साबले ने उसका हाथ पकडकर घर चलने को कहा। दोनों के बीच हो रही छीना छपटी ज्योति के भाई विजय अमृतलाल केवट ने देखा और मध्यस्ती कर बहन का हाथ छुडाया। किंतु संदीप ने उसके सिर पर कांच की बोतल दे मारी। यह देखकर उसका ससुर अमृतलाल लोहे की राड और साला विजय केवट कुल्हाडी से संदीप के सिर पर मारकर गंभीर घायल कर दिया। एकतानगर के गली से उठ रही आवाज सुनकर संदीप के चाचा मौके पर पहुंते को देखा संदीप रक्त से लथपथ जमीन पर पडा है उसके सिर से खून की धार बह रही है।

ससुर अमृतलाल केवट (48) और साला विजय केवट (19) संदीप को घायल कर वहां से चले गये। संदीप के चाचा चरण साबले ने पडोसियों की सहायता से संदीप को वेकोलि के एरिया हास्पिटल में दाखिल किया। किंतु उसकी हालत चिंताजनक होने से उसे उपचार के लिए जिला सरकारी अस्पताल चंद्रपुर भेज दिया। जहां उपचार के दौरान संदीप की मृत्यु हो गई।

माजरी पुलिस ने केवट पिता पुत्र के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर आज दोनों को भद्रावती न्यायालय में पेश किया। न्यायाधीश ने दोनों आरोपियों को 3 अक्टूबर तक के लिए पुलिस रिमांड में भेज दिया है। मामले की जांच एसडीपीओ निलेश पांडे के मार्गदर्शन में थानेदार संतोष मस्के कर रहे है।