निजी हास्पिटल की एंटीजन टेस्ट बंद करें – सांसद धानोरकर

  • निजी हास्पिटल पर 42 हजार का जुर्माना
  • आम नागरिकों को लूट से बचाने मनपा आयुक्त को आदेश

चंद्रपुर. निजी हास्पिटलों में एंटीजेन टेस्ट में कोरोना पाजिटिव पाये जाने वालों की सरकारी हास्पिटल में जांच रिपोर्ट निगेटीव आ रही है। इसलिए निजी हास्पिटलों की एंटीजेन टेस्ट बंद कर लूट से बचाने के आदेश सांसद बालु धानोरकर ने आज रविवार को शासकीय विश्रामगृह में आयोजित बैठक में मनपा आयुक्त राजेश मोहिते को दिये है।

 जिले में कोरोना बाधितों की संख्या तेजी से बढ रही है। नित हो रही मौतों की वजह से लोगों में भी कोरोना को लेकर दहशत है। इसे देखते हुए प्रशासन ने शहर के 16 निजी हास्पिटलों को अधिग्रहित किया है। किंतु इन हास्पिटलों में रोगियों से लूट मची होने की शिकायत के मद्देनजर सांसद बालु धानोरकर ने आज  बैठक लेकर लूट रोकने के आदेश दिये है। एक दिन में जांच कर उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश मनपा आयुक्त को दिये है। 

जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 11 हजार से अधिक पहुंच गई, 8437 ने कोरोना पर मात की है और 3148 रोगियों का उपचार जारी है। कोरोना संक्रमितों की बढती संख्या को देखते हुए शहर के 16 निजी हास्पिटलों को अधिग्रहित किया है जहां अनेकों का उपचार हो रहा है। ऐसे में निजी हास्पिटलों में रोगियों की लूट मची है इसे रोकने के लिए शासन ने सरकारी हास्पिटलों के लिए दिशा निर्देश जारी किये है। उसी के अनुसार उन्हे उपचार का चार्ज लेना है। सीटी स्कैन सेंटर पर भी रेटबोर्ड लगाने के निर्देश सांसद धानोरकर ने आयुक्त राजेश मोहिते को दिये। सासंद के आदेशानुसार मनपा आयुक्त ने पथक गठित किया। पथक ने निर्धारित दर से अधिक चार्ज लेने वाले एकोरी वार्ड के एक निजी हास्पिटल पर 42 हजार का जुर्माना ठोंका है। उसी प्रकार अन्य मरीजों के पैसे भी वापिस लौटाये है। पीपीई किट की कीमत 500 रुपये होने के बावजूद निजी हास्पिटलों में किट के 1200 से 1500 रुपये लगाये जा रहे है इसी प्रकार की लूट एम्बुलेंस वाले कर रहे है। इसलिए सीटी स्कैन की भांति ही पीपीई किट, एम्बुलेंस के रेट भी निर्धारित करने की मांग सांसद धानोरकर ने स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे से की है। बैठक में मनपा आयुक्त, ओबीसी कमेटी जिलाध्यक्ष उमाकांत धांडे के साथ कांग्रेस पदाधिकारी उपस्थित थे।